अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के भव्य आयोजन हेतु वित्तिय संसाधन जुटाने को लेकर चर्चा
January 28th, 2020 | Post by :- | 196 Views

मंडी, 28 जनवरी: मंडी अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के भव्य आयोजन को लेकर जिला प्रशासन ने कवायद तेज कर दी है। महोत्सव की तैयारियों को लेकर गठित समितियों की बैठकों का दौर लगातार जारी है। इस क्रम में महोत्सव की अर्थ सम्बन्धी व्यवस्था प्रबन्धन के लिए गठित वित्तिय उप समिति की बैठक मंगलवार को अतिरिक्त उपायुक्त आशुतोष गर्ग की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में उप समिति के सरकारी व गैर सरकारी सदस्यों ने भाग लिया। इस दौरान महोत्सव के सफल आयोजन के लिए वित्तिय संसाधनों को बढ़ाने को लेकर गहन विचार विमर्श हुआ।

आशुतोष गर्ग ने 22 से 28 फरवरी तक आयोजित किए जाने वाले अंतर्राट्रीय शिवरात्रि महोत्सव को भव्य स्वरूप देने व अधिक आकर्षक बनाने पर जोर दिया । उन्होेंने कहा कि नगर परिषद मंडी शहर में तीन स्थानों पर इलैक्ट्रॉनिक स्क्रीनें स्थापित कर रही है। स्क्रीनें स्थापित होने के उपरान्त इन स्क्रीन पर कोई भी व्यक्ति विज्ञापन देने के लिए मेला वित्तिय समिति से सम्पर्क कर सकता है। मेले के दौरान आयोजित की जाने वाली खेलकूद गतिविधियों व सांस्कृतिक संध्याएं प्रायोजकों के सौजन्य से करवाए जाने के प्रयास किए जाएंगे ताकि मेले के लिए अतिरिक्त वित्तिय संसाधन जुटाए जा सकें।

आशुतोष गर्ग ने दानी सज्जनों से अपील की कि मेले के सफल आयोजन के लिए सक्रियता से भागदारी सुनिश्चित करें और उदारतापूर्वक वित्तिय सहयोग प्रदान करें।
बैठक में गैर सरकारी सदस्यों ने मेला ग्राउंड में विज्ञापन वॉल बनाने, गर्म हवा के बडे़ गुब्बारों के जरिए विज्ञापन शुरू कर आमदनी बढ़ाने सहित अन्य उपयोगी सुझाव दिए।

बैठक में नगर परिषद अध्यक्ष सुमन ठाकुर, पार्षदगण, सहायक आयुक्त संजय कुमार, एसडीएम सदर निवेदिता नेगी, एसडीएम सुन्दरनगर राहुल चौहान, एसडीएम बल्ह आशीष शर्मा, महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र ओ.पी. जरियाल, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद बी.आर.नेगी, क्षेत्रीय प्रबन्धक एचआरटीसी गोपाल शर्मा, अधीशाषी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग के.के. शर्मा, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक लक्ष्मण कनैत, श्रम अधिकारी पी.सी.ठाकुर उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।