आचार संहिता लगने से पूर्व सभी विकास कार्य शीघ्र शुरू किए जाए
February 28th, 2019 | Post by :- | 266 Views
पंचकूला, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )      ।       उपायुक्त डा. बलकार सिंह ने कहा है कि सभी विभागाध्यक्ष सरकार की जनकल्याणकारी स्कीमों एवं योजनाओं का लक्ष्य निर्धारित अवधि तक पूरा करें। इसके साथ ही जिन विकासपरक योजनाओं पर कार्य शुरू नहीं किए गए हैे, उन पर शीघ्र कार्य शुरू किए जाए।
उपायुक्त जिला सचिवालय स्थित सभागार में मासिक अधिकारीगण बोर्ड की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोई भी विकास कार्य आदर्श आचार संहिता लगने के कारण लम्बित न रहे। इसके लिए अधिकारी त्वरित कार्यवाही करते हुए नए विकास कार्यो की शीघ्र शुरूआत करें। उन्होंने कहा कि सीएम विन्डो पर आई शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर निपटारा सुनिश्चित करें। सीएम विण्डों पर आई शिकायतों की मुख्यमंत्री द्वारा मोनिटरिंग की जा रही है। अब तक सीएम विण्डों पर 2581 शिकायतें दर्ज हुई, जिनमें से 2349 शिकायतों का निपटारा किया जा चुका है तथा 146 शिकायतों पर एक्शन चल रहा है । केवल 86 शिकायतें लम्बित चल रही है उनका भी शीघ्र निपटारा सुनिश्चित करें।
उपायुक्त ने कहा कि कालका बाजार में दुकानों के आगे अतिक्रमण करने की शिकायतें उनके संज्ञान में आ रही है। इसलिए निगम के अधिकारी उन्हें हटाने के लिए कार्यवाई करें ताकि बाजार में  आने वाले नागरिकों को किसी प्रकार की दिक्कत पेश न आए। बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत जिला के पात्र परिवारों के 13756 कार्ड बनाए जा चुके है तथा शेष के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रायपुरा रानी, कालका व सामान्य अस्पताल पंचकूला में कार्ड बनाने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। इसके अलावा शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिला के 417 स्कूलांे की मरम्मत के लिए एक करोड़ 42 लाख रुपए की राशि व्यय की जा रही है। इनमें से अधिकांश स्कूलों में कार्य पूरा किया जा चुका है तथा शेष में भी शीघ्र ही कर लिया जाएगा।
उपायुक्त ने जिला रैडक्रास सोसायटी के कार्याे की समीक्षा करते हुए कहा कि सैक्टर 15 में चलाए जा रहे ओल्ड एज होम में बुजुर्गो के लिए फिजियोथेरेपी सुविधाओं में इजाफा किया जाए ताकि समाज के सम्मानित एवं बुजुर्गो को किसी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पडे। इसके साथ ही अन्य लोगों को भी इसका लाभ दिया जा सके। बैठक में स्वच्छता अभियान से जुडे़ अधिकारियों ने बताया कि जिला में 29 सोलिड लिक्विड एण्ड वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम स्वीकृत किए गए थे, जिनमंे से 18 ने कार्य करना आरम्भ कर दिया गया है तथा शेष 11 को मार्च माह में शुरू कर दिया जाएगा। इसी प्रकार जिला के 78 गंावों में वाटर शैड योजना से कार्य करवाए जा रहे है। अब तक वाटरशैड योजना में दो करोड 42 लाख रुपए की राशि से डैम बनाने, डंगे लगाने, रिटेनिंग वाल बनाने, भूमि समतल करने जैसे कार्य किए जा रहे है। मनरेगा योजना में अब तक 173507 मानव दिवस सृजित किए गए है।
    बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त उतम सिंह, एसडीएम पंकज सेतिया, नगराधीश गगनदीप, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी एम एल गर्ग, जिला शिक्षा अधिकारी एच एस सैनी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।