टीचर बनने को 22 साल इंतजार अब जगी आस….
February 26th, 2020 | Post by :- | 168 Views

स्कूलों में खाली चल रहे शिक्षकों के हजारों पदों को भरने के लिए प्रदेश सरकार ने आर्ट्स, मेडिकल और नॉन मेडिकल में टीजीटी के जो 554 पद भरने की अधिसूचना जारी की है, वो न केवल ऊंट के मुंह में जीरे के समान है, बल्कि उन बेरोजगारों के साथ मजाक भी है, जिन्हें 43 से 44 साल की आयु में नौकरी मिलेगी। सरकार की इस अधिसूचना के बाद लगभग 20 से 22 साल पहले बीएड कर चुके हजारों बेरोजगारों में से चंद को नौकरी मिलने की उम्मीद जगी है। यूं कहें तो टीजीटी बैचवाइज भर्ती का यह वो कड़वा सच है, जो प्रदेश में बढ़ रही बेरोजगारों की फौज की पोल खोल रहा है। इस सरकारी सिस्टम में सामान्य वर्ग का 43 साल में ओबीसी वर्ग में 40, अनुसूचित जाति में 38 व अनुसूचित जनजाति वाला 36 साल की आयु में शिक्षक बनेगा। यही नहीं यदि 43 साल वाले का बैचवाइज में नंबर पड़ जाता है, तो तीन साल उसके अनुबंध में निकल जाएंगे और उसके बाद वह 12 से 13 साल ही रेगुलर सेवाएं दे पाएगा। पेंशन का प्रावधान तो अब हमारे सिस्टम में है ही नहीं। तो सवाल यह उठता है कि इनका भविष्य क्या होगा। जिस शिक्षक वर्ग को समाज का निर्माता कहा जाता है, वह इस सिस्टम में अपना ही निर्माण नहीं कर पा रहा है। आपको बता दें कि बैचवाइज भर्ती में 45 साल से ऊपर वाले को ओवरऐज माना जाता है। इसलिए ऐसा भी होगा कि सैकड़ों ऐसे अभ्यर्थी भी होंगे, जिन्होंने बीएड भी की, टैट क्वालिफाई भी किया, लेकिन आयुसीमा से बाहर होने के कारण उनकी शिक्षक बनने की हसरत पूरी नहीं हो पाई। कई ऐसे भी होंगे, जिनकी टैट पास की सात साल की अवधि या तो पूरी हो गई है या पूरी हो रही होगी। ऐसे में उन्हें दोबारा टैट क्वालिफाई करना पड़ेगा। वैसे भी देखा जाए तो 35 साल के बाद किसी भी काम को करने का जोश वो नहीं रहता, जो इसके पूर्व के सालों में होता है।

बैचवाइज भर्ती का ब्यौरा

टीजीटी आर्ट्स में 307, मेडिकल में 104 और नॉन मेडिकल में 143 पद भरे जाने हैं। इनमें कैटेगिरी वाइज बात करें तो टीजीटी आर्ट्स में सामान्य वर्ग में 2000, ओबीसी, ईडब्यूएस (इकोनॉमिकली वीकर सेक्शन) और एससी में 2003 और एसटी के 2004 के बीएड पास अभ्यर्थी बुलाए गए हैं। वहीं मेडिकल में सामान्य वर्ग के 2001, ओबीसीए ईडब्ल्यूएस और एससी के 2006 और एसटी में वर्ष 2005 के बीएड पास अभ्यर्थी बुलाए गए हैं। वहीं नॉन मेडिकल में सामान्य वर्ग में 1999, ओबीसी के 2002, ईडब्ल्यूएस के 2003, एससी के 2006 और एसटी के 2007 बैच के अभ्यर्थियों को बुलाया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।