मसूद अजहर की किडनी खराब, आर्मी अस्पताल में हो रहा डायलिसिस
March 2nd, 2019 | Post by :- | 250 Views

रावलपिंडी। भारत के मोस्ट वांडेट आतंकियों में से एक मौलाना मसूद अजहर को लेकर बड़ी खबर है। जानकारी के मुताबिक, पुलवामा आतंकी हमले को अंजाम देने वाले संगठन जैश-ए-मोहम्मद के इस सबसे बड़े आका की तबीयत खराब है। उसकी किडनी खराब हो गई है और पाकिस्तान सेना के रावलपिंडी स्थित अस्पताल में डायलिसिस हो रहा है।

इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरैशी ने भी कबूला था कि मसूद अजहर पाकिस्तान में है, लेकिन काफी बीमार है। उसकी हालत इतनी खराब है कि उसका घर से निकलना भी मुश्किल है।

पुलवामा आतंकी हमले के बाद मसूद एक बार फिर भारत के निशाने पर है। भारत उसे अंतर्राष्ट्रीय आतंकी ठहराने के लिए संंयुक्त राष्ट्र में लगातार कोशिश कर रहा है। अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस समेत 50 से ज्यादा देश भारत के साथ हैं।

ताजा घटनाक्र में पाकिस्तान कह रहा है कि अगर भारत ठोस सबूत देता है, तो हम ‘बेहद बीमार’ मसूद अजहर को गिरफ्तार करेंगे। अगर भारत हमें सबूत देता है, जो पाकिस्तान की अदालत को स्वीकार्य है, तो हम मसूद को गिरफ्तार करेंगे।

भारत की स्ट्राइक से घबराए पाक ने भेजा था मसूद को सुरक्षित स्थान पर

सीमा पर मौजूद इंटेलीजेंस के सूत्रों के मुताबिक, भारत की सर्जिकल स्ट्राइल के बाद पाकिस्तान के बहावल में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को रावलपिंडी स्थित एक मिलिट्री हॉस्पिटल से हटाकर बहावलपुर स्थित कोटघनी के पास शिफ्ट कर दिया था। पाकिस्तान सरकार ने मसूद अजहर को रावलपिंडी में किसी सुरक्षित जगह भेजा था। रावलपिंडी में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का हेडक्वार्टर भी है।

भारत सौंप चुका है डोजियर

भारत ने बुधवार 27 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में जैश की भूमिका पर पाकिस्तान को एक डोजियर सौंपा था। संयुक्त राष्ट्र द्वारा अजहर को एक वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के मामले में कुरैशी ने कहा था कि पाकिस्तान किसी भी कदम का स्वागत करेगा, जो भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव को कम करे। अगर उनके पास ठोस सबूत हैं, तो कृपया बैठकर बात करें, कृपया बातचीत करें और हम उचित कार्रवाई करेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।