मेडिकल कॉलेजों से प्रतिनियुक्ति पर नहीं भेजे जाएंगे डॉक्टर और नर्सें
January 20th, 2020 | Post by :- | 197 Views

हिमाचल के मेडिकल कॉलेजों में तैनात डॉक्टरों और नर्सों को अब प्रतिनियुक्ति पर दूसरे मेडिकल कालेजों व अस्पतालों में नहीं भेजा जाएगा। जहां इनकी तैनाती होगी, उन्हें वहीं सेवाएं देनी होंगी। मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में लोगों को बेहतर सेवाएं देने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है। सरकार के पास पहले तबादलों के लिए आवेदन आते थे, उन्हें रद्द करने के बाद अब डॉक्टर और नर्सें प्रतिनियुक्ति का सहारा लेने लगे हैं। सरकार ने एक दर्जन प्रतिनियुक्तियाें की फाइलों को वापस भेज दिया है।

14 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग ने जिन डॉक्टरों और नर्सों की प्रतिनियुक्ति खत्म हो गई थी, उन्हें भी वापस बुला लिया है। प्रदेश सरकार चिकित्सा संस्थान खोलने के बजाय अब वर्तमान में चल रहे मेडिकल कॉलेजों के आधारभूत ढांचे और फैकल्टी को मजबूत करने में लगी है।

स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि मेडिकल कॉलेजों में तकरीबन स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की कमी पूरी हो गई है, जहां पर पैरा मेडिकल स्टाफ व नर्सों की कमी है, उन पदों को भरा जा रहा है। हर महीने होगी मेडिकल कॉलेज की समीक्षा

हिमाचल में 6 मेडिकल कॉलेज हैं। इन कॉलेजों में लोगों को किस तरह की सेवाएं उपलब्ध हो रही हैं, स्वास्थ्य सेवाओं को और कैसे बेहतर किया जा सकता है इसको लेकर हर महीने सचिवालय में अफसरों की समीक्षा बैठक होगी।

डॉक्टरों और नर्सों को प्रतिनियुक्ति पर नहीं भेजा जाएगा। लोगों को बेहतर सेवाएं देने के लिए यह फैसला लिया गया है। कॉलेजों की हर महीने सचिवालय में समीक्षा बैठक होगी। – विपिन परमार, स्वास्थ्य मंत्री

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।