लॉकडाउन में पुलिस कांस्टेबल ने राशन दिलाने का झांसा देकर महिला मजदूर से किया दुष्कर्म
May 16th, 2020 | Post by :- | 353 Views

करीब एक महीना पहले लॉकडाउन के दौरान शराब के नशे में धुत होकर एक एएसआई के पीछे जूता लेकर दौड़े पुलिस कांस्टेबल ने एक महिला से दुष्कर्म कर दिया। कांस्टेबल ने बिलासपुर जिले के खारसी क्षेत्र में रह रही एक महिला मजदूर को राशन दिलाने का झांसा देकर जबरदस्ती गाड़ी में बैठाया और घुमारवीं में ले जाकर दुष्कर्म किया। दुष्कर्म करने के बाद आरोपित कॉन्स्टेबल महिला को घुमारवीं में ही छोड़कर चला गया।

महिला इस वारदात की शिकायत लेकर बंगाणा थाना पहुंची। पुलिस ने इस मामले की जांच करवाने के बाद मिले तथ्यों के आधार पर तुरंत आरोपित कॉन्स्टेबल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत गैर जमानती मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। जिसके आधार पर कॉन्स्टेबल के खिलाफ बरमाणा थाना में मुकदमा दर्ज किया गया है। सब इंस्पेक्टर देवराज को इस मामले की जांच सौंपी गई है। आरोपित कॉन्स्टेबल पुलिस ने शाम को हिरासत में ले लिया है।

एसपी बिलासपुर दिवाकर शर्मा ने बताया कॉन्स्टेबल अजय कुमार को करीब एक माह पहले खारसी चौकी में ही तैनात एक एएसआई के पीछे शराब के नशे में धुत होकर जूता लेकर दौड़ने के आरोप में लाइन हाजिर किया गया था। लेकिन इन दिनों कोरोना महामारी के संक्रमण के दौरान की गई नाकाबंदी में कॉन्स्टेबल अजय कुमार की ड्यूटी खारसी क्षेत्र में ही नाके पर लगाई गई थी। इसी क्षेत्र में रहने वाली एक महिला मजदूर ने पुलिस को दी गई शिकायत में कहा है कि कॉन्स्टेबल अजय कुमार पहले उससे जान पहचान रखता था। वह उसके कमरे में आया और कहने लगा कि वह उसे राशन दिला देगा।

राशन दिलाने के बहाने कॉन्स्टेबल अजय कुमार इस महिला को सड़क में खड़ी एक गाड़ी तक ले गया और कहा कि इसी गाड़ी में ही राशन पड़ा हुआ है। लेकिन वहां जाने के बाद महिला ने देखा कि गाड़ी के अंदर ड्राइवर पहले से ही बैठा हुआ है। कॉन्स्टेबल अजय कुमार ने महिला को जबरदस्ती गाड़ी में धकेल कर डाला और उसे घुमारवीं अपने क्वार्टर में ले गया, जहां पर उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके बाद महिला को घुमारवीं में ही छोड़कर चला गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।