साहसिक कार्यों के कोर्सेज
February 12th, 2019 | Post by :- | 296 Views

साहसिक कार्यों के कोर्सेज – कुछ ऐसे व्यवसाय जिसने काम शब्द की परिभाषा ही बदल दी

दुनिया मे ऐसे बहुत से शब्द हैं जिनको सुनते ही हम खुश होते है और मुस्कुराते भी हैं, इन्हीं में से एक ‘छुट्टी’ है. चाहे कॉलेज में पढ़ने वाला विद्यार्थी हो या ऑफिस में काम करने वाला कर्मचारी या फिर घर का ध्यान रखने वाली गृहिणी, सभी हर्षोल्लास के साथ छुट्टी मानते है.

कुछ समय बाद छुट्टिया शुरू हो जायेंगी और सभी ने अभी से घूमने का अपना प्लान भी बना लिया होगा. किसी को देश में, तो किसी को परदेश मे दिलचस्पी है. अगर भारत में ही बात करें, तो मनाली, कश्मीर, गोवा, केरला इत्यादि इन जगहों पर लोगों का जमावड़ा कुछ ज़्यादा ही होता है. जैसे जमाना बदलता है, वैसे ही कार्यशैली भी बदलती है और कार्य भी बदलते है. कल तक जिसे केवल खेल का साधन समझा जाता था, वह आज एक व्यवसाय बन गया है. भारत में ही हर वर्ष न-जाने कितने लोग छुट्टियों मे परिवार के साथ, मित्रों के साथ घूमने जाते हैं.

कुछ ऐसी चीज़े जिनमें सैलानियों को सबसे ज़्यादा जिज्ञासा होती है वो पैराग्लाइडिंग, पैरासेलिंग, रिवर क्रॉसिंग, ट्रेक्किंग, बंजी जंपिंग, रिवर राफ्टिंग इत्यादि. अब हम जान चुके हैं कि साहसिक कार्यों का बाज़ार मे कितना बोल-बाला है और हम यह भी समझ ही सकते हैं कि इनमें मुनाफा भी कितना होगा. बस इन्हीं कुछ कारणों ने साहसिक कार्यों को भारत मे ‘व्यवसाव’ के लिये उच्च ख्याति प्राप्त कराई है.

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।