हिमाचल में चलेंगी वेंटिलेटर और लाइफ सपोर्ट सिस्टम से लैस एंबुलेंस
January 22nd, 2020 | Post by :- | 238 Views
हिमाचल के स्वास्थ्य संस्थानों में अब वेंटिलेटर और लाइफ सपोर्ट सुविधा वाली एंबुलेंस चलेंगी। अभी तक इस एंबुलेंस की सुविधा सिर्फ प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल आईजीएमसी शिमला में ही उपलब्ध है। अब आधुनिक सुविधाओं से लैस ऐसी एंबुलेंस अन्य मेडिकल कॉलेजों में भी उपलब्ध करवाई जाएंगी।  वहीं, प्रदेश के स्वास्थ्य संस्थानों में पुरानी एंबुलेंस को बदलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। अभी 10 पुरानी एंबुलेंस को बदलकर अस्पताल प्रबंधन को नई एंबुलेंस जारी करने के निर्देश दिए गए हैं। मार्च तक सभी एंबुलेंस को बदला जाना है। कुल मिलाकर 100 एंबुलेंस बदली जानी हैं। चंबा, हमीरपुर, मंडी, नाहन और टांडा मेडिकल कॉलेज में भी यह एंबुलेंस उपलब्ध होगी। इनमें अस्पतालों से रेफर मरीजों को हर तरह की सुविधाएं मिलेंगी।

इसमें वेंटिलेटर से लेकर ऑक्सीजन के साथ अन्य लाइफ सपोर्ट की सुविधा होगी। अभी मेडिकल कॉलेजों से रेफर मरीजों को 108 एंबुलेंस में पीजीआई ले जाना पड़ता है। पर्याप्त सुविधा के अभाव में कई बार मरीज रास्ते में दम तोड़ देते हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कहा कि अस्पताल में मरीजों को हर तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। मेडिकल कॉलेजों में एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस सुविधा मरीजों के लिए कारगर साबित होगी।

सरकार को मिलती रहती हैं शिकायतें

मुख्यमंत्री, मंत्रियों और विधायकों तक अकसर लोगों की यह शिकायत आती रही है कि एंबुलेंस मरीज को ले जाते-जाते खराब हो गई। विधानसभा में भी आरोप-प्रत्यारोप लगते रहे हैं। ऐसे में सरकार ने पुरानी एंबुलेंस बदलकर नई एंबुलेंस और कॉलेजों के लिए लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस खरीदने का फैसला लिया है।

अस्पतालों में मरीजों को हर तरह की सुविधा उपलब्ध है। मेडिकल कालेजों के लिए लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस भेजी जा रही है। इनमें रेफर मरीजों को हर सुविधाएं उपलब्ध होगी। एंबुलेंस बदलने भी शुरू कर दी है। – विपिन परमार, स्वास्थ्य मंत्री

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।