हिमाचल में बर्फबारी से फिर बढ़ी दुश्वारियां, पांच एनएच सहित 303 सड़कें बंद
February 27th, 2019 | Post by :- | 371 Views

हिमाचल प्रदेश में सफेद आफत ने लोगों की मुश्किलें फिर बढ़ा दी हैं। राजधानी शिमला सहित पहाड़ी इलाकों में हुए हिमपात से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बर्फबारी के कारण शिमला जिला में सभी शैक्षणिक संस्थान बुधवार को एक दिन के लिए बन्द रखे गए। राज्य भर में इस हिमपात से पांच नेशनल हाइवे सहित 303 सड़कों के अवरुद्ध होने के कारण परिवहन व्यवस्था पटरी से उतर गई। शिमला जिले के ऊपरी इलाके दिन भर राजधानी से कटे रहे।

सबसे अधिक 173 सड़कें शिमला ज़ोन में अवरुद्ध हुई हैं। जिनमें रोहड़ू में 98, शिमला शहर में 33, रामपुर में 30 और नाहन में 12 सड़कें शामिल हैं। मंडी ज़ोन की 81 अवरुद्ध सड़कों में कुल्लू सर्कल की 49 और मंडी सर्कल की 32 सड़कों पर आवाजाही ठप्प रही। इसके अलावा कांगड़ा ज़ोन में 44 सड़कों पर यातायात बाधित रहा, जिनमें डलहौजी सर्कल की 42 और पालमपुर सर्कल की 2 सड़कें शामिल हैं। इस बर्फबारी की वजह से राज्य पथ परिवहन निगम के 344 के करीब रूट बाधित हुए हैं। शिमला जिले में जगह-जगह बर्फबारी में निगम की 80 बसें फंस गई हैं।

राज्य पथ परिवहन निगम के एक अधिकारी ने बताया कि 303 बस रूट अकेले शिमला जिले में बाधित हुए हैं।
शिमला में मौसम का यह सातवां हिमपात है। यहां बीती देर रात बर्फ गिरने का दौर शुरू हुआ और सुबह पूरा शहर बर्फ की सफेद चद्दर में लिपटा था। खराब मौसम को देखते हुए जिला प्रशासन ने सभी शैक्षणिक संस्थानों को (बुधवार) एक दिन के लिए बन्द रखने के आदेश जारी कर दिए। मौसम विभाग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक कुफरी, कल्पा और कसौली में 10, खदराला में 7, जुब्बल, शिमला और मशोबरा में 5, सराहन में 4, मनाली, डलहौजी, जनझेहली और कोठी में 3 सेंटीमीटर ताज़ा बर्फबारी हुई है।

बर्फबारी के कारण शिमला, कुल्लू, चम्बा, लाहौल-स्पीति और किन्नौर जिलों में न्यूनतम तापमान शून्य के नीचे चला गया है।
लाहौल-स्पीति जिला का मुख्यालय केलंग राज्य में सबसे ठंडा रहा, जहां आज सुबह न्यूनतम तापमान -11 डिग्री दर्ज किया गया। किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान -6, कुफरी में -5, डलहौजी में 2, चायल में -1.5, शिमला में -1.4 और मनाली में -1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।इसके अलावा नाहन में 2.1, जुब्बड़हट्टी में 2.8, चम्बा में 3, सोलन में 3.5, पालमपुर में 4, धर्मशाला में 4.2, भुंतर में 4.5, मंडी में 6.1, कांगड़ा में 6.4, ऊना में 7.4, हमीरपुर में 8 और बिलासपुर में 8.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से मौसम में बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि अगले 24 घण्टों के दौरान राज्य में मौसम साफ रहेगा। लेकिन एक से पांच मार्च तक पहाड़ी इलाकों में फिर हिमपात की संभावना है। उन्होंने दो व तीन मार्च को राज्य के मैदानी और मध्यवर्ती इलाकों में तेज ओलावृष्टि की भी चेतावनी जारी की है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।