एम्स से पैदल ही घर जा रहे थे 106 मजदूर, पुलिस ने सभी को स्कूल में ठहराया
May 9th, 2020 | Post by :- | 187 Views

हिमाचल जिले के कोठीपुरा में एम्स के निर्माण में जुटे करीब 106 प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने घर की ओर निकल पड़े। शुक्रवार देर रात को पुलिस ने राष्ट्रीय उच्च मार्ग चंडीगढ़-मनाली पर बिलासपुर के गंभरोला-कल्लर के पास इनसे लौटने का कारण पूछा तो श्रमिकों ने बताया कि वे पैदल ही घर जा रहे हैं। मजदूरों ने बताया कि उनके पास निर्माण कार्य में लगी कंपनी ने रख लिए थे। उनसे जबरदस्ती काम करवाया जा रहा था। इस कारण वे रात के अंधेरे में निकल पड़े। वहीं, पुलिस ने सभी मजदूरों के रहने का प्रबंधन ब्वॉयज स्कूल बिलासपुर में कर दिया। ये सभी मजदूर यूपी, बिहार और झारखंड के हैं।
प्रवासी मजदूरों ने बताया कि उन्होंने पास के लिए आवेदन किया था। पास मिलने के बावजूद एम्स के निर्माण कार्य को सरकार की ओर से अधिकृत निजी कंपनी प्रबंधन ने उनसे जबरन कार्य करवाया। प्रवासी श्रमिकों के लौटने की सूचना मिलते ही थाना सदर का प्रभार देख रहे प्रोबेशनर डीएसपी अजय ठाकुर भी मौके पर पहुंचे। श्रमिकों को समझाकर बिलासपुर लाया गया। एसडीएम रामेश्वर दास ने कहा कि सभी मजदूरों को रात को समझा बुझाकर बिलासपुर लाया गया। ब्वॉयज स्कूल में इनके रहने का प्रबंध किया गया है। उन्होंने कहा कि जब तक इन मजदूरों के जाने का प्रबंध नहीं हो जाता, इनके रहने-खाने की व्यवस्था प्रशासन की ओर से की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।