सिरमौर में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से 10944 परिवार लाभान्वित: राम कुमार गौतम #news4
May 28th, 2022 | Post by :- | 80 Views

नाहन : जिला सिरमौर में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले 10,944 परिवारों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाए गए हैं। यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर रामकुमार गौतम ने दी। उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत नाहन विधानसभा क्षेत्र के 2237 परिवारों को कनेक्शन उपलब्ध करवाया गया है। जबकि पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के 728, पांवटा साहिब विधानसभा क्षेत्र के 2805, शिलाई विधानसभा क्षेत्र के 2471 और श्रीरेणुकाजी विधानसभा क्षेत्र के 2703 परिवारों को इस योजना का सीधा लाभ मिला है।

उपायुक्त ने बताया कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले नागरिकों को गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाया जाता है, जिसके तहत जिला सिरमौर में भी बड़ी संख्या में परिवार लाभान्वित हुए हैं। उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत 1600 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है और चूल्हा खरीदने के लिए तथा पहली बार एलपीजी सिलेंडर भरने में आने वाले खर्च को चुकाने के लिए भी ईएमआई की सुविधा भी प्रदान करवाई जाती है। राम कुमार गौतम ने बताया कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत में अशु़द्ध ईधन को छोड़कर स्वच्छ एलपीजी ईधन को बढ़ावा देना तथा पर्यावरण को दूषित होने से बचाना है। पहले इन परिवारों की महिलाओं को लकड़ी एकत्र करके चूल्हा जलाकर खाना पकाना पड़ता था।

धुएं से महिलाओं तथा बच्चों के स्वास्थ्य को भी हानि होती है, जिसके मद्देनजर प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत मिलने वाली एलपीजी गैस के इस्तेमाल से महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य लाभ भी मिला है। उपायुक्त ने बताया कि सिरमौर सहित हिमाचल में इस योजना के अंतर्गत लगभग 1 लाख 36000 परिवारों को गैस कनेक्शन मिला है जिसके लिए 21 करोड़ 86 लाखों रुपए सरकार द्वारा व्यय किए गए है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक महिला होनी चाहिए व उसकी 18 वर्ष पूर्ण होनी चाहिए। इस योजना के तहत आवेदक गरीबी रेखा से नीचे होनी चाहिए। आवेदक का बैंक में खाता होना चाहिए और आवेदक के पास पहले से एलपीजी कनेक्शन नहीं होना चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।