कुल्लू आ रहे 1100 पर्यटक वापस भेजे, जिला के सभी हाेटल और रेस्‍तरां किए बंद
March 21st, 2020 | Post by :- | 237 Views

कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते खतरे के दृष्टिगत हिमाचल प्रदेश सरकार ने पर्यटकों के आवागमन पर पूर्ण पाबंदी लगाई है। जिसकी अनुपालना में ज़िला कुल्लू के साथ लगने वाली सीमाओं को सील किया गया है। ज़िला कुल्‍लू से अब तक करीब 1100 देशी व विदेशी पर्यटकों के वाहनों को अपने गृह राज्यों तथा प्रस्थान स्थलों की ओर वापस भेजा गया है। कुल्लू ज़िला के स्थानीय लोग जो अन्य क्षेत्रों से वापस अपने गृह ज़िला में आ रहे हैं, उन्हें गहन थर्मल जांच के बाद ही प्रवेश की अनुमति दी जा रही है।

आम जनता से पुलिस की अपील है कि आप अपने आस-पड़ोस में कोरोना वायरस संक्रमित क्षेत्र से आने वाले लोगों की जानकारी तुरंत पुलिस को दें तथा 22 मार्च रविवार के दिन जनता क्‍फर्यू को पूर्ण रूप से लागू कर  अपना महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करें।

सभी होटल-रेस्तरां और होम स्टे को तुरंत बंद करने के आदेश

कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए कुल्लू जिला में सभी होटलों, रेस्तरां, गेस्ट हाउसों और होम स्टे को तुरंत सैनिटाइज तथा बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं। इस संबंध में आदेश जारी करते हुए जिला दंडाधिकारी डाॅक्‍टर ऋचा वर्मा ने बताया कोरोना वायरस का संक्रमण बड़ी तेजी से फैलता है। पिछले कुछ दिनों में ही भारत के विभिन्न राज्यों में बड़ी संख्या में लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। हिमाचल में भी दो मामले पाॅजीटिव पाए गए हैं। कोरोना संक्रमण को वैश्विक महामारी घोषित किया जा चुका है। इसलिए हर नागरिक को विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

डाॅक्‍टर ऋचा ने बताया कुल्लू जिला में भी संक्रमण की आशंका को देखते हुए सभी होटलों, रेस्तरां, गेस्ट हाउसों और होम स्टे को तुरंत सैनिटाइज तथा 31 मार्च तक बंद करने के आदेश दिए गए हैं। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले होटल व्यवसायियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जिला दंडाधिकारी ने सभी जिलावासियों से अपील की है कि वे कोरोना से बचाव के लिए सरकार और प्रशासन की ओर से जारी किए जा रहे विभिन्न दिशा-निर्देशों की अक्षरशः अनुपालना करें, तभी हम कोरोना के संक्रमण से बच सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।