ओलिंपिक क्वालिफायर से वापस लौटे 13 मुक्केबाजों की जांच होगी; घर में निगरानी में रहेंगे, भारत को सबसे ज्यादा 9 कोटा
March 12th, 2020 | Post by :- | 199 Views

जॉर्डन में हुए एशियन ओलिंपिक क्वालिफायर में हिस्सा लेने के बाद गुरुवार को वापस लौटे भारतीय मुक्केबाजों की जांच होगी। खिलाड़ियों को कुछ दिनों के लिए घर में निगरानी (क्वारैंटाइन) में भी रखा जाएगा। बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आरके सचेती ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जॉर्डन से लौटे खिलाड़ी कुछ दिन अपने घर या होस्टल रूम में ही रहेंगे। हालांकि, भारत लौटने से पहले इन्हें जॉर्डन की ओलिंपिक एसोसिएशन ने जरूरी हेल्थ क्लीयरेंस दिए थे। लेकिन बीएफआई ने देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए एहतियातन खिलाड़ियों को यह निर्देश दिए हैं।

बीएफआई डायरेक्टर के मुताबिक, इन्हें कहा जाएगा कि यह लोगों से दूरी बनाकर रखें। फिलहाल चिंता की कोई बात नहीं है। सभी खिलाड़ी स्वस्थ हैं। हम स्वास्थ्य मंत्रालय के संपर्क में हैं। उनके निर्देशों पर अमल करेंगे। टीम के हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर सैनटियागो निवा ने भी बताया कि सारे खिलाड़ी ठीक हैं। किसी को भी सर्दी-खांसी नहीं है। केंद्र सरकार ने बुधवार को ही यह साफ कर दिया था कि 13 मार्च के बाद इटली समेत सबसे ज्यादा प्रभावित 7 देशों से आने वाले सभी भारतीयों को 14 दिनों तक क्वारैंटाइन (अलग-थलग) किया जाएगा।

ओलिंपिक क्वालिफायर से पहले भारतीय मुक्केबाजों ने इटली में ट्रेनिंग की 

ओलिंपिक क्वालिफायर में हिस्सा लेने से पहले भारतीय मुक्केबाज 26 फरवरी तक इटली में ट्रेनिंग कर रहे थे। भारतीय टीम 27 फरवरी को असिसी से जॉर्डन पहुंचीं थी। यहां कोरोनावायरस के संक्रमण का पता लगाने के लिए सभी खिलाड़ियों की स्क्रीनिंग की गई थी।

भारतीय मुक्केबाजों ने पहली बार ओलिंपिक में 9 कोटा हासिल किए

13 मुक्केबाजों के साथ ही इतने ही सदस्यों का कोचिंग स्टाफ गुरुवार को जॉर्डन से लौटा है। यह पहला मौका है, जब 9 भारतीय मुक्केबाजों ने ओलिंपिक के लिए कोटा हासिल किया है। भारत ने 2016 के रियो ओलिंपिक में 6, जबकि 2012 के लंदन गेम्स में 8 कोटा हासिल किए थे। भारत ने क्वालिफायर में कुल 8 पदक जीते। इसमें 2 रजत औऱ 6 कांस्य पदक शामिल हैं।

4 महिला मुक्केबाजों ने ओलिंपिक कोटा हासिल किया

ओलिंपिक कोटा हासिल करने वाले मुक्केबाजों में 5 पुरुष और 4 महिलाएं शामिल हैं। इनमें एमसी मैरीकॉम (51 किलो), सिमरनजीत कौर (60 किलो), लवलिना बोरगोहेन (69 किलो), पूजा रानी (75 किलो), अमित पंघल (53 किलो), मनीष कौशिक (63 किलो), विकास कृष्णन (69 किलो), आशीष कुमार (75 किलो) और सतीश कुमार (+91 किलो) हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।