ऊपरी शिमला के चियोग बाजार में भीषण अग्निकांड, 15 दुकानें और 4 घर जलकर राख #news4
June 26th, 2022 | Post by :- | 114 Views

ठियोग : ऊपरी शिमला के चियोग बाजार में शनिवार देर शाम लगभग 15 दुकानें और 4 घर राख हो गए। इससे लगभग 2 करोड़ से अधिक का नुक्सान होने का अनुमान लगाया जा रहा। आग पर रात एक बजे पूरी तरह से काबू पाया जा सका। दमकल कर्मियों को आग पर काबू पाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। आग के कारणों का अभी पता नहीं लग पाया है। पुलिस लोगों से पूछताछ करके आग लगने के कारण जानने में जुटी हुई है। स्थानीय लोगों के मुताबिक आग बुझाने के लिए दमकल वाहन मौके पर देरी से पहुंचे। इससे आग ने भयानक रूप लिया और कई दुकानों को अपने चपेट में ले लिया। बताया जा रहा है कि जब आग लगी देखी गई तब तक सभी दुकानदार दुकानें बंद कर चुके थे। इस वजह से अधिकांश लोग दुकानों से अपना सामान भी नहीं निकाल पाए।

घटनास्थ्ल पर देरी से पहुंचे दमकल वाहन
चियोग बाजार में आग की घटना के बाद कसुम्पटी के विधायक अनिरूद्ध सिंह, एसडीएम ठियोग भी मौके पर पहुंच गए। दमकल वाहनों के देरी से पहुंचने से लोगों में रोष व्याप्त है। चियोग पंचायत के प्रधान दिनेश जगटा ने प्रदेश सरकार, जिला प्रशासन और एसडीएम ठियोग से बाजार में आग से हुए नुक्सान का आकलन कर जल्द प्रभावित परिवारों को राहत राशि देने की मांग की है। उन्होंने ठियोग में खराब पड़े अग्निशमन वाहन को भी जल्द दुरुस्त करने की मांग की है। उधर, इस घटना से हुए नुक्सान का प्रशासन द्वारा आकलन किया जा रहा है।

आग से प्रभावित लोगों से मिले सुरेश कश्यप
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने अग्रि पीड़ितों से मुलाकात की और इस दुखद घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया। उनके साथ भाजपा मंडल अध्यक्ष जितेंद्र भोटका, गुडिय़ा सक्षम बोर्ड के अध्यक्ष रूप शर्मा और एसडीएम सौरभ जस्सल भी थे। उन्होंने प्रशासन से इस घटना में प्रभावित लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद करने का अनुरोध किया। उन्होंने प्रशासन,कार्यकर्ताओं और स्थानीय प्रतिनिधियों से अपील की कि वे प्रभावितों को भोजन, आश्रय और अन्य दैनिक जरूरतों के मामले में मदद के लिए आगे आएं। उन्होंने कहा कि फायर टैंडर इस स्थान पर देर से पहुंचा इस मामले की जांच करवाएंगे। कश्यप ने कहा कि वह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से अनुरोध करेंगे कि चियोग में एक पूर्ण फायर स्टेशन दिया जाए, वर्तमान में यहां एक सब फायर स्टेशन है। उन्होंने कहा कि सरकार और प्रशासन से भी अनुरोध करेंगे कि ऐसी घटनाओं के लिए राहत नियमावली की समीक्षा करें ताकि प्रभावित लोगों को बड़ी राहत मिल सके। इस मौके पर नरेश चौहान, प्रतिभा बाली, उपाध्यक्ष पृथ्वी राज, राहुल, लियाक राम, गीता राम, कल्याण जगता, भाजपा प्रवक्ता कर्ण नंदा भी मौजूद थे।

ठियोग फायर स्टेशन को अपग्रेड करने की उठी मांग
ऊपरी शिमला के ठियोग सहित आसपास के क्षेत्रों में कई बार बड़े भीषण अग्निकांड हो चुके हैं, जिसे लेकर स्थानीय जनता के संघर्ष के बाद ठियोग में फायर स्टेशन खोला गया लेकिन दमकल वाहनों की कमी तथा व्यवस्था सही न होने के कारण जनता में भी काफी रोष है। काबिलेगौर है कि सरकार और विभाग की लापरवाही से ठियोग में एक दमकल वाहन लंबे समय से खराब पड़ा है और ऊपरी शिमला का मुख्य द्वार होने के चलते, जबकि ठियोग फायर स्टेशन से नारकंडा, कुमारसैन, कोटगढ़, छैला, जुब्बल-कोटखाई, सैंज, फागू तक अग्निशमन वाहन आग पर काबू पाने के लिए भेजे जाते हैं फिर भी खराब गाड़ी को विभाग ठीक करने की ज़हमत नहीं उठा रहा हैं। क्षेत्र की जनता ने ठियोग फायर स्टेशन को अपग्रेड कर यहां पर अग्निशमन वाहनों की संख्या बढ़ाने तथा नए वाहन तैनात करने की मांग भी उठाई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।