16 महीने की बेटी घर में छोड़ जनता की सेवा में समर्पण …
May 17th, 2020 | Post by :- | 197 Views

पालमपुर – एक ऐसा परिवार जो कोरोना योद्धा की भूमिका निभाते हुए इस संकट की घड़ी में अपने कर्तव्य के प्रति पूरी निष्ठा निभाते हुए देश सेवा के कार्य में जुटा हुआ है। यह दंपत्ति अपनी 16 माह की बेटी को घर में छोड़कर कई घंटों तक जनता की सेवा में जुटा हुआ है। हालांकि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का प्रकोप अभी तक जारी है, लेकिन यह दंपत्ति अपने कार्य के प्रति पूरी तरह समर्पित है। जी हां! हम बात कर रहे हैं पालमपुर के डीएसपी अमित शर्मा के परिवार की, जिनकी धर्मपत्नी छवि नांटा भी एसडीएम हैं, वह बैजनाथ में कार्यरत हैं। पति-पत्नी सुबह ही अपने घर से निकलते हैं शाम तक घर पहुंचते हैं। पिछले दो माह से लॉकडाउन के दौरान यही दिनचर्या उनकी रही है। इस दौरान नन्ही बेटी को उनकी दादी मां संभालती हैं। इस दंपत्ति को लॉकडाउन के दौरान कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा है, लेकिन इन्होंने कर्तव्य निष्ठा के साथ अपनी ड्यूटी को निभाया है।

इन कोरोना योद्धाओं को समाज के हर वर्ग ने अपना सलाम किया है। पालमपुर में डीएसपी की भूमिका निभाते हुए अमित शर्मा के कंधों पर कानून व्यवस्था के साथ कोविड-19 के अंतर्गत कई जिम्मेदारियां सरकार व प्रसाशन द्वारा सौंपी गई हैं। कई थानों का कार्यभार भी उनके कंधों पर है, लेकिन ये पुलिस अधिकारी बिना शिकन के अपने कर्तव्य को लॉकडाउन के दौरान पूरी निष्ठा के साथ निभा रहे हैं। बता दें कि अमित शर्मा व छवि नांटा शिमला जिला से ताल्लुक रखते हैं। सन 2013 में एचएएस की परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के बाद छवि नांटा ने किन्नौर, शिमला व अर्की में अपनी बेहतर सेवाएं दी हैं और अब बैजनाथ में एसडीएम के तौर पर सेवाएं दे रही हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।