यस बैंक संकट / धर्मशाला स्मार्ट सिटी परियोजना के 169 करोड़ तो केसीसी बैंक के 150 करोड़ रुपए अटके
March 9th, 2020 | Post by :- | 211 Views

यस बैंक वित्तीय संकट से जूझ रहा है। बैंक की धर्मशाला शाखा में स्मार्ट सिटी परियोजना के 169 करोड़ व प्रदेश के सबसे बड़े सहकारी बैंकों में से एक कांगड़ा सेंट्रल कोऑपरेटिव (केसीसी) बैंक की 150 करोड़ रुपए की सावधि जमा थी। जब तक यस बैंक वित्तीय संकट के मुद्दे को हल नहीं करता है, तब तक इन दोनों संस्थानों का पैसा अटके रहने की संभावना है।

निर्माण कार्य में बाधा आएगी

ऐसे में यदि मामला जल्द नहीं सुलझा तो आने वाले समय में स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे निर्माण कार्यों में बाधा आ सकती है। यस बैंक के खाताधारकों को संकट का अनुमान 6 महीने पहले ही लग गया था जिसके चलते खाताधारकों ने 18,000 करोड़ रुपए निकाल लिए थे। गुजरात के एक इंडस्ट्रियल ग्रुप ने आईबीआई की दखल से एक महीने पहले ही बैंक अपना पैसा निकाल लिया था।

कोई प्रयास नहीं किया

मामले की भनक लगते ही वड़ोदरा नगर निगम द्वारा नियंत्रित, वडोदरा स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी ने पिछले सप्ताह आरबीआई द्वारा निकासी कैप लगाने से एक दिन पहले ही बैंक में जमा 265 करोड़ रुपए निकाल लिए थे। लेकिन हैरानी की बात है कि न तो धर्मशाला स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी और न ही केसीसी बैंक प्रबंधन ने यस बैंक में जमा राशि को निकलने का प्रयास किया।

प्रतिबंध हटेगा

केसीसी बैंक के प्रबंध निदेशक विनय कुमार ने स्वीकार किया कि सहकारी बैंक में यस बैंक में 150 करोड़ रुपए की सावधि जमा थी। ज्यादातर फिक्स्ड डिपॉजिट जून के महीने में परिपक्व होने हैं और मुझे उम्मीद है कि उस समय तक फंड की निकासी पर प्रतिबंध हट जाएगा।

स्मार्ट सिटी का यस बैंक में 2015 से डिपॉजिट
2015 में जब धर्मशाला को स्मार्ट सिटी का दर्जा मिला था, उस समय से ही धर्मशाला के येस बैंक में ही स्मार्ट सिटी के एमडी की ओर से खाता खोलकर स्मार्ट सिटी का बजट डिपॉजिट करवाया गया था। करीब 5 साल तक स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए इसी बैंक से अमाउंट भी रिलीज किया जाता रहा।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के 169 करोड़ रुपए जमा
यस बैंक में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के 169 करोड़ रुपए जमा हैं। इसके लिए स्मार्ट सिटी के एमडी की ओर से बाकायदा मिनिस्ट्री ऑफ अर्बन डवलपमेंट के स्मार्ट सिटी बिंग को कार्यालय की ओर से पत्राचार भी कर दिया है ताकि भविष्य में येस बैंक से फंड की रिलीजिंग को लेकर कोई दिक्कत न आए। स्मार्ट सिटी प्रॉजेक्ट के तहत करोड़ों रुपए के विकास कार्य होने हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।