दादा-पोते के शक्ति प्रदर्शन से कांग्रेस के बड़े चेहरे गायब, अनिल शर्मा भी रहे दूर
April 2nd, 2019 | Post by :- | 54 Views

भाजपा से टिकट न मिलने के बाद मंडी संसदीय सीट से कांग्रेस का टिकट हासिल करके मंगलवार को पंडित सुखराम और उनके पोते आश्रय शर्मा मंडी पहुंचे। कांग्रेस के बड़े चेहरों की गैर मौजूदगी में दादा-पोते ने सलापड़ से मंडी तक रोड शो निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया।

गाड़ियों के काफिले के बीच ओपन जीप में सवार होकर आश्रय और सुखराम ने चुनावी हुंकार भरी। इस सब के बीच भाजपा के कैबिनेट मंत्री और आश्रय के पिता अनिल शर्मा भी स्वागत कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बने।

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह, विक्रमादित्य, कौल सिंह, रंगीला राम राव जैसे बड़े चेहरों के अलावा कुछ स्थानीय नेता भी कार्यक्रम से नदारद रहे। मंगलवार शाम करीब साढ़े पांच बजे काफिला कांग्रेस कार्यालय गांधी भवन पहुंचा और आश्रय कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए।

आश्रय शर्मा ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा है कि अनिल शर्मा मेरे पिता हैं। उनका आशीर्वाद मेरे सिर पर है। पापा मेरे हैं तो मेरे ही रहेंगे भाजपा के तो बनेंगे नहीं। दो पुराने धुरंधर पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह व पूर्व संचार मंत्री प. सुखराम एक हो चुके हैं।

इनकी जुगलबंदी से मंडी सहित प्रदेश की चारों लोकसभा सीटों पर कांग्रेस पार्टी प्रचंड बहुमत से जीत हासिल करेगी और भाजपा को करारा जवाब देगी। उनका मुकाबला मुख्यमंत्री जयराम से नहीं बल्कि भाजपा के झूठे वायदों, जुमलेबाजी और वादाखिलाफी से है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।