कचरा फैलाते मिले तो एक लाख रुपए तक का हो सकता है जुर्माना
April 29th, 2019 | Post by :- | 109 Views

जिले के कुछ भागों में कूड़े-कचरे की शिकायतों को उपायुक्त यूनुस ने गंभीरतापूर्वक लिया है। उन्होंने स्पष्ट तौर पर चेतावनी देते हुए कहा है कि शहरों, उपनगरों अथवा पर्यटक गंतव्यों पर किसी प्रकार का कूड़ा-कचरा फैलाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी और दोषी पाए जाने पर एक लाख रुपए तक का जुर्माना किया जाएगा। इसके अलावा पर्यावरण को दूषित करने वाले व्यक्ति को सजा का भी कानून में प्रावधान है और वह इसपर किसी प्रकार की ढील को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

कूड़े कचरे को लेकर एनजीटी की भी हैं सख्त हिदायतें: कूड़ा हटाने को चलाया जाएगा विशेष अभियान

  1. उपायुक्त ने कहा कि जिला में पर्यटन सीजन शुरू हो चुका है और विभिन्न दर्शनीय स्थलों पर प्लास्टिक कचरे की समस्या से दो-चार होना स्वाभाविक है। इस पर उन्होंने अधिकारियों से कहा कि प्रत्येक स्थल का समय-समय पर निरीक्षण किया जाए। राष्ट्रीय राजमार्गों, ब्यास नदी तथा इसकी अन्य सहायक नदियों व नालों, शहरों व गांवों में जहां कहीं पर भी कोई व्यक्ति यत्र-तत्र कूड़ा फैंकते पाया जाता है, तो मौके पर तत्काल कड़ी कार्रवाई करते हुए चालान किया जाए। उन्होंने कहा कि जिले में लोगों को जागरूक करने के लिए अनेकों अभियान चलाए जा चुके हैं। स्कूली बच्चों को भी समय-समय पर पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के बारे में जानकारी प्रदान की जा रही है।

  1. यूनुस ने कहा कि जिला के विभिन्न भागों विशेषकर शहरी व अर्धशहरी क्षेत्रों, पर्यटन स्थलों व नदियों के किनारे कूड़ा फैलाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। विभिन्न माध्यमों से ऐसे संवेदनशील स्थलों की सर्विलेंस की जा रही है। विभिन्न टीमों का गठन भी किया गया है, जो इस प्रकार की अनैतिक गतिविधियों पर नजर रख रही हैं। लोगों के स्वास्थ्य और पर्यावरण से खिलवाड़ करने की किसी को इजाजत नहीं दी जा सकती। उन्होंने प्रत्येक व्यक्ति को आगाह किया है कि वह अपनी जिम्मेवारी को समझे और एक अच्छे नागरिक होने की भूमिका को निभाएं।

  2. यूनुस ने कहा कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण पर्यावरण संरक्षण को लेकर काफी संवेदनशील है। ऐसे अनेक अधिनियम बनाए गए हैं जिसमें दोषियों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई का प्रावधान हैँ उन्होंने कहा कि इस संबंध में राज्य स्तरीय समिति को रिपोर्ट सौंपी जानी है। इससे पहले जिले को हर हालत में साफ सुथरा बनाने के पुरजोर प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुल्लू, मनाली, भुंतर में जल्द ही अपविष्ट निस्तारण संयंत्रों की स्थापना की जाएगी।

  3. उपायुक्त ने कहा कि जिलाभर में आगामी 3 मई से ब्यास नदी, उपनगरों व पर्यटन स्थलों को साफ करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। अभियान में नगर निकायों, पंचायती राज संस्थानों, महिला व युवक मण्डलों तथा स्वयंसेवी संस्थानों व आम लोगों को सम्मिलित किया जाएगा। इस दौरान विशेषकर प्लास्टिक का कचरा हटाकर इसका उपयुक्त निदान किया जाएगा। इस संबंध में परियोजना अधिकारी, पंचायत अधिकारी व खण्ड विकास अधिकारियों को एक विस्तृत कार्यनीति तैयार करने को कहा गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।