मौसम विभाग का पूर्वानुमान; मैदानों में ओलावृष्टि, पहाड़ होंगे जाम
February 17th, 2019 | Post by :- | 222 Views

हिमाचल प्रदेश में आगामी सप्ताह मौसम फिर से तेवर दिखाएगा। मौसम विभाग ने समूचे राज्य में 19 व 20 फरवरी को भारी बारिश, ओलावृष्टि व बर्फबारी की चेतावनी जारी कर दी है। मौसम विभाग के मुताबिक राज्य में 22 फरवरी तक मौसम खराब बना रहेगा। इस दौरान अनेक स्थानों पर बारिश व बर्फबारी का सिलसिला जारी रहेगा। शनिवार को प्रदेश में मौसम का मिलाजुला सा असर देखने को मिला। सुबह के समय जहां आसमान में काले बादल छाए रहे, वहीं दोपहर के समय हल्की धूप खिली, जिससे अधिकतम तापमान में उछाल आया है। हालांकि शाम के समय फिर से आसमान में बादलों ने डेरा डाल दिया था। शनिवार को अधिकतम तापमान में एक से 10 डिग्री तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। चंबा के अधिकतम तापमान में सबसे अधिक 10 डिग्री का उछाल आया है। इसके अलावा सुंदरनगर में 9, कांगड़ा और बिलासपुर में 8 डिग्री अधिकतम तापमान बढ़ा हुआ दर्ज किया गया। जबकि बीते 24 घंटों के दौरान न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। न्यूनतम तापमान में एक से दो डिग्री तक की गिरावट आंकी गई है। न्यूनतम तापमान में गिरावट आने से राज्य में सुबह व शाम के समय फिर से सर्दी बढ़ गई है। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि 19 व 20 फरवरी को राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में भारी बारिश, ओलावृष्टि व बर्फबारी होगी। उन्होंने बताया कि राज्य का मौसम 17 फरवरी से 22 फरवरी तक खराब बना रहेगा। इस दौरान अनेक स्थानों पर बारिश-बर्फबारी होगी। कुल मिलाकर अभी प्रदेश को मौसम से राहत मिलने के आसार नहीं है।

कोठी-डलहौजी में बर्फबारी

शुक्रवार रात को कोठी में सबसे अधिक 30 सेंटीमीटर हिमपात हुआ है। डलहौजी में 24, किन्नौर में 9, खदराला में 8, ऊपरी कल्पा में 7, मनाली में 3 सेंटीमीटर हिमपात दर्ज किया गया। इसके अलावा जोगिंद्रनगर में 37, सुजानपुर-टीहरा में 25, पालमपुर में 23, बैजनाथ में 22, धर्मशाला व हमीरपुर में 21, अर्की में 19, गोहर-भुंतर, सरकाघाट में 17 मिलीमीटर बारिश हुई। बहरहाल मौसम विभाग की ताजा जानकारी के अनुसार अभी प्रदेश को राहत मिलने के आसार नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में जमकर बारिश और बर्फबारी होने के आसार हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।