बारिश से 38 सड़कें बंद, ऊपरी शिमला के कई क्षेत्रों में बिजली नहीं #news4
August 20th, 2022 | Post by :- | 123 Views

शिमला : राजधानी सहित ऊपरी शिमला में 24 घंटों में हुई मूसलधार वर्षा से जनजीवन काफी प्रभावित हुआ है। शिमला सहित जिले में 38 सड़कों सहित 30 के करीब अन्य संपर्क मार्ग पर यातायात ठप पड़ा हुआ है। जिले में 317 ट्रांसफार्मर खराब होने से ऊपरी शिमला के कई क्षेत्रों में बीती रात से ही बिजली आपूर्ति बाधित है। शुक्रवार रात से लगातार हो रही वर्षा से चौपाल सब डिविजन में 310 व कुपवी सब डिविजन में सात ट्रांसफार्मर खराब पड़े हुए हैं।

वर्षा के कारण पेयजल स्रोतों में गाद आने से राजधानी शिमला सहित अन्य क्षेत्रों में पानी की सप्लाई बाधित हुई है। राजधानी शिमला के परिवहन निदेशालय के पास शनिवार सुबह भूस्खलन हो गया। शिमला आने वाली मुख्य सड़क का एक हिस्सा धंस गया। प्रशासन ने इस सड़क को वनवे कर दिया। इसके कारण दिनभर जाम की स्थिति बनी रही। होटल पीटरहाफ की सड़क का सारा मलबा नीचे मुख्य सड़क पर आ रहा है, इस मार्ग को भी वनवे किया गया। खलीनी में वन विभाग के कार्यालय के पास एक पेड़ गिरने से दफ्तर के चारों ओर लगी रेलिग टूट गई। समरहिल में भूस्खलन से सड़क धंस गई। सड़क धंसने से यहां पर पार्क कार खाई में गिर गई।

वहीं मैहली के पास मुख्य सड़क पर पेड़ गिर गया। इसके कारण मार्ग बंद हो गया। नेशनल हाइवे पर यह पेड़ गिरा। इसके कारण सड़क के दोनों तरफ करीब दो किलोमीटर लंबा जाम लग गया। शिमला के उपनगरों में कई जगह नालों का मलबा सड़क पर आ गया है। कृष्णानगर में नालों का पानी कचरे समेत रास्ते और रिहायशी इलाके में घुस गया। पुराने बस अड्डे पर भी कुछ दुकानों में मलबा घुसने से दुकानदार को नुकसान हुआ है। उपायुक्त की अपील, भूस्खलन संभावित स्थानों पर यात्रा करने से बचें

उपायुक्त आदित्य नेगी ने राज्य लोक निर्माण विभाग और नगर निगम शिमला को निर्देश दिए हैं कि नुकसान का आकलन करें और लोगों को जल्द राहत प्रदान करें। उनका कहना है कि जिला प्रशासन लोगों से ऐसी जगह पर न जाने की अपील कर रहा है जहां पर भूस्खलन की संभावना ज्यादा है। ठियोग के कंदरू में सड़क पूरी तरह क्षतिग्रस्त

वर्षा के कारण ठियोग उपमंडल के तहत पड़ने वाले कंदरू गांव को जाने वाली सड़क पूरी तरह क्षतिग्रसत हो गई। सड़क पर ही पूरा नाला बहकर आ गया है। मलबा इतना ज्यादा है कि यह पता नहीं चल रहा कि सड़क कहां से थी। गांव के लोगों का कहना है कि अभी सेब की फसल का तुड़ान आधा भी नहीं हुआ। यदि सड़क ठीक नहीं होती तो सेब को मंडियों में पहुंचना मुश्किल हो जाएगा। ठियोग में पेट्रोल पंप पर आई चट्टान, तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त

ठियोग में राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित पेट्रोल पंप पर बड़ी चट्टान आने से तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। पेट्रोल पंप भी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ है। हालांकि इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है, लेकिन इससे लाखों रुपये का नुकसान हुआ है।

दिनभर बंद रहे यह मार्ग

– आनंदपुर शोघी-मैहली बाईपास के पास भूस्खलन से बंद हो गया, जिसके बाद यहां पर एकतरफा गाड़ियां चलाई गई।

– मुख्य सड़क पर आरटीओ के पास भूस्खलन होने से वनवे आवाजाही रही।

-स्नो लाइन फिलिग स्टेशन ठियोग पर भूस्खलन। सभी प्रकार के यातायात के लिए सड़क मार्ग बाधित।

-वृद्धाश्रम, बसंतपुर रोड के पास भूस्खलन हुआ।

– सैंज-चौपाल मार्ग पर भूस्खलन व तीन पेड़ गिरने से अलीधर मार्ग बाधित हो गया। पुलिस ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

शिमला पुलिस ने लोगों से आग्रह किया है कि सावधानी से वाहन चलाएं और अपनी सुरक्षा के संबंध में एहतियाती कदम उठाएं। कृपया यातायात नियमों का पालन करें और सुरक्षित वैकल्पिक मार्गो से यात्रा करें। किसी भी आपात स्थिति में लोग 0177-2812344, 112 या निकटतम पुलिस स्टेशन पर संपर्क कर सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।