प्रदेश में लंपी रोग से 48 पशुओं की मौत, 654 चपेट में #news4
August 8th, 2022 | Post by :- | 126 Views

शिमला : प्रदेश में अभी तक लंपी रोग से 48 पशुओं की मौत हो चुकी है, जबकि 654 पशु इस रोग की चपेट में आए हैं। सोलन, सिरमौर, शिमला, ऊना, क कांगड़ा और हमीरपुर में पशुओं में यह रोग सामने आया है। हालांकि यहां पशुपालन विभाग ने 662 पशुओं की वैक्सीनेशन कर ली है। जिन क्षेत्रों में पशु इस रोग की चपेट में आ रहे हैं, वहां से 5 किलोमीटर की दूरी तक जितने पशु हैं, विभाग उन सभी की वैक्सीनेशन कर रहा है। एहतियात के तौर पर यह वैक्सीनेशन की जा रही है।  इसके  लिए पशुपालन विभाग ने पहले ही डाक्टरों की टीमें बना दी हैं। जो पशुओं की वैक्सीनेशन तो कर रही हैं, साथ ही लोगों को इस संबंध में जागरूक भी कर रही हंै।

लोगों को पशुशालाओं में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने को कहा जा रहा है। यदि किसी भी पशु में लंपी रोग के लक्षण दिखते हैं, तो लोग संबंधित क्षेत्र के वैटर्नरी डाक्टर को सम्पर्क कर सकते हैं। विभाग के स्टेट नोडल अधिकारी डा. अरूण सरकैक का कहना है कि मामले में विभाग सतर्क है। जिला व उपमंडल स्तर पर गठित टीमें प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर वहां इस रोग की चपेट में आए पशुओं की वैक्सीनेशन कर रही हैं। 654 पशु इस रोग से ग्रसित हंै, जिनका इलाज चल रहा है। उन्होंने कहा है कि राज्य में 662 पशुओं को वैक्सीन लगाई गई है।

प्रदेश में घूम रहे आवारा पशुओं की भी होगी जांच
प्रदेश में घूम रहे आवारा पशु भी कहीं लंपी रोग से ग्रसित तो नहीं, इसकी जांच भी की जाएगी। जिला स्तर पर बनी कमेटियों को विभाग ने यह जिम्मा सौंपा है। जिन क्षेत्रों के पशुओं पर यह रोग सामने आया है, वहां आवारा पशुओं को भी डाक्टरों द्वारा चैक किया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।