प्रदेश में शुरू हुई प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान)योजना
February 24th, 2019 | Post by :- | 269 Views

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज राजकीय महाविद्यालय धर्मशाला के सभागार में आयोजित प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत राज्य स्तरीय समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि दो हेक्टेयर से कम भूमि वाले राज्य के लगभग 8,42,600 किसानों को इस योजना के तहत प्रतिवर्ष 6000 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

उन्होंने कहा कि दिसम्बर, 2018 और जनवरी व फरवरी, 2019 के महीने के लिए 2000 रुपये की पहली किस्त प्रधानमंत्री द्वारा स्वयं आज तक दर्ज राज्य के 1,41,677 किसानों के खातों में जमा की जाएगी, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत पंजीकृत होते ही शेष किसानों को भी यह राशि प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह कदम किसानों के कल्याण के प्रति केन्द्र सरकार की प्रतिबद्धता की दर्शाता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना का उद्देश्य लघु एवं सीमान्त किसानों की वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करना है तथा यह योजना किसानों को 6,000 रुपये की नकद सहायता प्रदान करेगी। इस योजना के तहत दो हेक्टेयर से कम भूमि वाले लघु एवं सीमांत किसानों को उनके खातों में तीन किश्तों में 2,000 रुपये की प्रत्येक किश्त के रूप में प्रदान की जाएगी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि इस योजना के तहत 6,000 रुपये प्रतिवर्ष की सहायता तीन समान किश्तों में लघु एवं सीमांत किसानों के परिवारों को प्रदान की जाएगी। जिनके पास दो हेक्टेयर तक की संयुक्त भूमि है। उन्होंने कहा कि पात्र लाभार्थियों को लाभ हस्तांतरित करने के लिए योजना 1 दिसम्बर, 2018 से प्रभावी होगी। उन्होंने कहा कि इस योजना से देश के 12.5 करोड़ किसान लाभान्वित होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना के तहत 31 मार्च, 2019 को समाप्त होने वाली चार महीने की अवधि के लिए पहली किश्त वर्तमान वित्तीय वर्ष 2018-19 में ही पात्र लाभार्थियों को हस्तांतरित की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गृहिणी सुविधा योजना के तहत लाभार्थी को एक और मुफ्त गैस रिफिल उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई हिमकेयर योजना में 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा सुनिश्चित किया जा रहा है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार भी प्रदेश में प्राकृतिक खेती को प्रोत्साहित कर रही है और इसके लिए बजट में 25 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि यह प्रयास न केवल किसानों के लिए ज्यादा आय सुनिश्चित करेगा बल्कि जनता को स्वस्थ भोजन भी प्रदान करेगा।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद शांता कुमार ने कहा कि यह योजना केन्द्र सरकार द्वारा शुरू की गई एक क्रांतिकारी योजना है, जो किसानों को उनकी कृषि आय में वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि पिछले 70 वर्षों में किसी ने भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसा दूरदर्शी कदम नहीं उठाया है। उन्होंने प्रदेश में इस योजना के शुभारम्भ के लिए कांगड़ा जिले को चुनने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री किशन कपूर ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि विशेष रूप से भारी वर्षा, ओलावृष्टि, आग आदि प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों को नुकसान के समय यह योजना गरीब किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों की फसलों को जंगली जानवरों से बचाने के लिए कांटेदार तार की बाड़ लगाने पर 50 प्रतिशत उपदान देने की भी घोषणा की है।

कृषि मंत्री डॉ. राम लाल मारकण्डा ने मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा यह योजना पूरे देश में एक साथ आरम्भ की गई है। उन्होंने इस योजना की मुख्य विशेषताओं की भी विस्तृत जानकारी दी। निदेशक कृषि देसराज शर्मा ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार, विधायक प्रकाश राणा, कुलपति चौधरी सरवन कुमार कृषि विश्वविद्यालय, पालमपुर डॉ. अशोक, उपायुक्त संदीप कुमार सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।