सिरमौर में अमेरिकन वेरायटी के 55 हजार सेब के पौधे बिक्री के लिए तैयार #news4
February 22nd, 2022 | Post by :- | 115 Views

नाहन : जिला सिरमौर के संगड़ाह उपमंडल के थियानबाग फार्म से प्रदेश के किसानों को उद्यान विभाग ने सेब की अमेरिकन वेरायटी के 55 हजार से अधिक प्लांटस उपलब्ध कराने शुरू कर दिए हैं

बागवानों को एक पौधें की किमत 400 रुपयें अदा करनी पडे़गी। विभाग के पास फार्म मे ग्राफटेड प्लांटस की 15 किस्मे तैयार बैचने के लिए तैयार है। सेब के पौधों की प्रदेश भर में काफी डिमांड है। विभाग के पास अभी तक 20 हजार से अधिक प्लांटस की डिमांड आ चुकी है। उद्यान विभाग जिला सिरमौर के स्थानीय बागवानों को प्राथमिकता के तहत तथा अन्य जिला के बागवानों को डिमांड के अनुसार प्लांट उपलब्ध करवा रहा है। फिर प्रदेश के सभी जिलों के बागबानों को भी प्लांटस उपलब्ध करवाए जाएंंगे।

विभाग ने प्लांट को बैचने की तैयारियां पूरी कर ली हैं। उद्यान विभाग ने एक वर्ष पहले ही थियानबाग में कृषि विभाग की 170 बीघा जमीन एक्वायर की है। विभाग ने पिछले वर्ष ही अमेरिका से सेब के 22,922 प्लांटस मंगवाए थे। विभाग के पास कुल 44 किस्म के प्लांटस हैं, जिनमें 1,55,457 स्टांक रुट प्लांटस, 73,145 ग्राफटेड प्लांट व 620 पौधे नाशपती के हैं। कोई भी प्लांटस किसी बिमारी से ग्रस्त न हो, इसलिए विभाग ने इस सभी गा्रफटेड प्लांटस को एक वर्ष तक फार्म में क्वारंटाइन पर रखा था। अब सभी प्लांटस बिक्री के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। उधर जिला सिरमौर उद्यान विभाग के उपनिदेशक सतीश शर्मा ने बताया कि 55 हजार ग्राफटेड प्लांट थियानबाग फार्म में बिक्री के लिए तैयार हैं। बागबान अपनी डिमांड के अनुसार संगड़ाह, शिलाई, राजगढ़, व सराहां में विभाग के कार्यलय से प्लांटस के लिए संपर्क कर सकते हैं।

क्या है लगाने की विधि

उद्यान विभाग राजगढ़ के एसएमएस देवेंद्र शर्मा ने बताया कि सेब के इन पौधे को लगाने के लिए जो गड्ढा तैयार किया जाता है। उसकी लंबाई, चोड़ाई व गहराई कम से कम 3 फुट होनी चहिए। साथ ही 15 से 20 दिनों तक पौधे की नियमित सिंचाई करना भी अनिवार्य है। बागवानों को जो सेब के जो पौधे वितरित किए जा रहे हैं, उनकी आयु अभी दो वर्ष है। इस प्लांटस की खासियत यह है कि पौधा लगाने के 2 वर्ष बाद ही वह सेंपल देना भी शुरू कर देंगा। सैंपल देने के बाद बागवान भी इन पौधों की कलमें कर सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।