कचरा प्रबंधन प्लांट पर खर्च होंगे 66 लाख #news4
December 21st, 2021 | Post by :- | 68 Views

शिमला : शहर के विकास के लिए सोमवार को प्रस्तावित नगर निगम की वित्त कमेटी की बैठक कोरम पूरा न होने के कारण नहीं हो सकी। इस बैठक में जो भी प्रस्तावित एजेंडे लाए गए उन सभी को सीधे नगर निगम की मासिक बैठक में लाया जाएगा। इसमें फैसला लिया गया कि मज्याठ वार्ड में ट्रीटमेंट प्लांट तक जाने वाली सड़क को चौड़ा करने के लिए 41 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

प्लांट में शेड बनाने और सीमेंट का रास्ता बनाने के लिए 25 लाख की राशि भी खर्च की जानी प्रस्तावित है। इसी तरह से संजौली में पार्किग से दक्षिण बिहार तक का रास्ता बनाने के लिए 12 लाख 50 हजार की राशि खर्च की जाएगी। आशियाना-टू के तहत बने हुए घरों को लोगों को आवंटित करने के लिए भी प्रस्ताव तैयार किया गया था। अब इन सभी प्रस्तावों पर निगम की बैठक में मुहर लगाई जानी है।

महापौर सत्या कौंडल की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में सदस्य हिस्सा नहीं ले पाए। नगर निगम के पार्षद और वित्त कमेटी के सदस्य विवेक शर्मा शहर से बाहर पालमपुर में थे। वहीं दिवाकर देव शर्मा अस्वस्थ होने के कारण बैठक में हिस्सा नहीं ले सके। अन्य सदस्य भी बैठक में हिस्सा नहीं ले पाए। महज पार्षद सिम्मी नंदा ही बैठक के लिए मौजूद रहीं। बैठक का कोरम पूरा न होने के कारण इस पर चर्चा करने के बजाय फैसला लिया कि निगम की मासिक बैठक में ही इन प्रस्तावों को चर्चा के लिए लाया जाएगा। मासिक बैठक में जो भी फैसला लिया जाता है, उसके मुताबिक ही आगे काम किया जाएगा।

महापौर सत्या कौंडल ने कहा कि शहर में विकास कार्य हो सकें और लोगों को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं जल्द ही मिल सकें, इसलिए ये फैसला लिया है कि वित्त कमेटी के प्रस्ताव को सीधे अब निगम की बैठक में चर्चा के लिए लाया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।