किन्नौर जिला में आनलाईन पढाई बनी विधार्थियों के लिए वरदान …..
May 5th, 2020 | Post by :- | 171 Views

रिकांग पिओ 05 मई 2020- वैिश्वक कोविड-19 महामारी के कारण राष्ट्र व्यापी लाॅकडाउन के दौरान विधार्थियों की पढाई में कोई बाधा उत्पन न हो के लिए प्रदेश सरकार द्वारा विधार्थियों की सुविधा के लिए आॅनलाईन व दूरदर्शन पर ज्ञानशाला जैसे कार्यक्रम आरम्भ किए गए है ताकि विधार्थी अपने घरों पर ही नवीनतम तकनीक का प्रयोग कर अपनी पढाई जारी रख सके जनजातीय व सीमावर्ती किन्नौर जिला में शिक्षा विभाग की आॅनलाईन पढाई की पहल सफल होती नजर आ रही है विधार्थियों में इस नई तकनीक के प्रति उत्साह है।
जिले में वर्तमान में 176 प्राथमिक पाठशालाएं 31 राजकीय माध्यमिक पाठशालाएं 20 उच्च पाठशालाए तथा 32 वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाए है। जिनमें से कुछ पाठशालाएं दूरदराज क्षेत्र में स्थित है जहां इंन्टरनेट जैसी संचार सुविधाए नहीं है जिले में 147 प्राथमिक स्कूलों में 31 माध्यमिक पाठशालाओं मंें 16 उच्च पाठशालाओं में तथा 30 वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में आॅनलाईन पढाई आरम्भ की गई है।
उप-निदेशक शिक्षा पदम बिष्ठ का कहना है कि उच्च तथा वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं मंे शिक्षा ग्रहण कर रहे 78 प्रतिशत से अधिक विधार्थी आॅनलाईन पढाई का लाभ उठा रहे है। इसके लिए 432 अध्यापक व्टसऐप ग्रुप के माध्यम से बच्चों को आॅनलाईन पढाई करवा रहे है।
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कानम की $2 विज्ञान संकाय की छात्रा मुसकान का कहना है कि उन्हें आॅनलाईन पढाई में आन्नद आ रहा है घर बैठे ही सुबह 10 बजे से 1 बजे तक शिक्षक उन्हें आॅनलाईन पढाते है यदि कोई विषय समक्ष नहीं आए तो फोन पर शिक्षक समक्षाते हैं होम वर्क भी दिया जाता है उन्होेने मुख्य मंत्री जय राम ठाकुर का इस नई पहल को आरम्भ करने के लिए आभार जताया है। उन्होने कहा कि इस पहल से उनकी पढाई सुचारू रूप से चल रही है।
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कानम में शिक्षा ग्रहण कर रहे लाबरगं गांव के निखिल तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला $2 की छात्रा दिक्षिता व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पाठशाला तांगलिग की छात्रा अनिका भी आॅनलाईन पढाई से खुश है। उनका कहना है कि अध्यापक सुबह के समय विभिन्न विषयों को पढाते है। जिले के दूरदराज पाठशाला बडा कम्बा की 9वीं कक्षा की छात्रा शैजल तथा रांरग के 6वीं कक्षा के छात्र आदित्य भी आॅनलाईन पढाई से खुश नजर आ रहे है उनका कहना है पहले लग रहा था कि स्कूल बन्द होने के कारण व पढाई से पुरी तरह कट जाएगंे परन्तु प्रदेश सरकार की आॅनलाईन शिक्षा की पहल से अब व पूर्व की तरह ही पढाई कर रहे है नई व्यवस्था के कारण इसमे सभी विधार्थी अपनी रूचि दिखा रहे है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।