कोरोना का खौफ: एचपीयू ने स्थगित कीं नर्सिंग की परीक्षाएं, 27 को बैंक हड़ताल भी नहीं होगी
March 20th, 2020 | Post by :- | 155 Views
हिमाचल विश्वविद्यालय ने नोवल कोरोना कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए प्रदेश सरकार के शिक्षण संस्थानों के बंद किए जाने के बाद अब हर तरह की परीक्षाएं काउंसलिंग, साक्षात्कार स्थगित करने का निर्णय लिया है। विवि ने बीएससी नर्सिंग, पोस्ट बेसिक नर्सिंग, बीएससी पैरा मेडिकल टेक्नोलॉजी की सप्लीमेंटरी परीक्षाएं भी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी हैं। विवि के परीक्षा नियंत्रक डॉ. जेएस नेगी की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि इन कोर्स की परीक्षा का शेडयूल दोबारा तय कर घोषित कि या जाएगा, जिसकी सूचना वेबसाइट पर दे दी जाएगी।

वहीं, ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन ने 27 मार्च को प्रस्तावित एक दिवसीय बैंक हड़ताल को स्थगित कर दिया है। यूनियन के प्रदेश पदाधिकारी प्रेम वर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस से बचाव को लेकर हड़ताल को स्थगित किया गया है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय यूनियन के आह्वान पर देश भर में सभी जगह धरने-प्रदर्शन न करने का फैसला लिया गया है।

राज्यपाल ने कोरोना वायरस को लेकर कुलपतियों को दिए निर्देश

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने शुक्रवार को प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को दूरभाष से कोरोना वायरस से संबंधित दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने विश्वविद्यालय स्तर पर बरती जा रहीं सावधानियों के बारे में भी जानकारी हासिल की। राज्यपाल ने कृषि विवि पालमपुर के कुलपति प्रोफेसर अशोक सरयाल और बागवानी विवि नौणी के कुलपति डॉ परमिंदर कौशल को निर्देश दिए कि वे सोशल मीडिया के माध्यम से प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू की अपील को विद्यार्थियों तक पहुंचाएं।

उन्होंने सामाजिक दूरी बनाए रखने का आह्वान किया। कहा कि इस आपातकाल में विद्यार्थियों को जागरूक किया जाना चाहिए और इस स्थिति के बारे में सकारात्मक संदेश दिया जाना चाहिए। प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर सिकंदर कुमार ने राजभवन में राज्यपाल से भेंट की और उन्हें विश्वविद्यालय स्तर पर किए जा रहे विभिन्न कदमों के बारे में अवगत करवाया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।