जसूर में पेट्रोल पंप के साथ सटे मकान में भड़की आग, भारी नुकसान; बड़ा हादसा टला
May 12th, 2020 | Post by :- | 138 Views

व्यापारिक कस्बा जसूर के पेट्रोल पंप के बिल्कुल साथ सटे एक रिहायशी मकान में आग लगने से भारी नुकसान हुआ है। रैणा निवास की मालिक संतोष कुमारी निवासी जसूर ने बताया ऊपर की मंजिल पर स्थित मकान किराये पर दिया हुआ था, जिसमें सोनिया देवी निवासी सिम्बला तहसील पठानकोट काफी समय से किराये पर रह रही थीं। लाॅकडाउन लगने के दौरान वह अपने घर चली गई थीं। इस दौरान सोमवार रात साढ़े दस बजे उक्त मंजिल पर अचानक आग लग गई, जिससे न केवल किरायेदार का भारी नुकसान हुआ है बल्कि मकान को भी भारी क्षति पहुंची है।

मकान मालिक संतोष कुमारी ने बताया कि घटना सोमवार रात करीब साढ़े दस बजे उस समय हुई जब घर के सभी लोग सो रहे थे, ऐसे में आसपास के लोगों ने मकान की ऊपर की मंजिल में आग की लपटें व धुआं उठता देखा तो इस बारे उन्हें आसपास के लोगों ने बताया। आग काफी फैल चुकी थी। घटना की जानकारी अग्निशमन केंद्र नूरपुर को दी। अग्निशमन केंद्र के प्रभारी अर्जुन सिंह, संजीव कुमार, कमल सिंह व अजय कुमार की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। लेकिन तब तक कमरे में रखा फ्रिज, एलईडी, फर्नीचर, कपड़े, पंखा, कूलर व विद्युत उपकरणों के साथ गोदरेज की अलमारी में रखे सामान को आग से भारी नुकसान पहुंचा। बेशकीमती समान जलकर खाक हो चुका था।

उक्त मकान पेट्रोल पंप के बिल्कुल साथ सटा था, यदि थोड़ी सी भी चूक होती तो बहुत बड़ा हादसा हो सकता था। वहीं कमरे में भरे पड़े दो गैस सिलेंडर आग की चपेट में आने से बच गए, नहीं तो हालात बेकाबू हो जाते।

फायर केंद्र के प्रभारी अर्जुन सिंह ने पुष्टि करते हुए बताया करीब डेढ़ लाख का नुकसान का प्राथमिक आकलन है और लाखों की संपत्ति बचाई गई है। एसडीएम नूरपुर सुरेंद्र ठाकुर का कहना है नुकसान के आकलन की रिपोर्ट बनाने के आदेश विभाग को दे दिए गए हैं। विधायक राकेश पठानिया ने मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लिया। पीड़ित परिवार से मिलकर मौके का मुआयना किया है। नुकसान की रिपोर्ट बनाने के आदेश प्रशासन को दिए गए हैं। नियमानुसार पीड़ित परिवार की हर सम्भव मदद की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।