उपलब्धि: कुल्लू के गुरहर्ष को मिला राष्ट्रपति गोल्ड मेडल #news4
April 13th, 2022 | Post by :- | 94 Views

जिला कुल्लू के शमशी के गुरहर्ष सिंह (30) ने संघ लोक सेवा आयोग के आईएफएस के प्रशिक्षण में बेस्ट अधिकारी ट्रेनी के लिए राष्ट्रपति गोल्ड मेडल हासिल किया है। गुरहर्ष ने हिमाचल का नाम पूरे देश में ऊंचा किया है। इससे शमशी में खुशी का माहौल है। गुरहर्ष वर्तमान में मंसूरी में आईएफएस की ट्रेनिंग कर रहे हैं। उनकी शुरुआती पढ़ाई 10वीं तक कुल्लू के ओएलएस स्कूल में हुई। इसके बाद केवीएस में 11वीं की परीक्षा में हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड में प्रथम रहे। 12वीं कक्षा में पूरे प्रदेश में पांचवें स्थान पर रहे। आईआइटी रुढ़की से एमएससी में टॉप किया था। उन्होंने 2020-21 में देशभर में यूपीएससी की परीक्षा में सातवां रैंक प्राप्त किया है।

गुरहर्ष की माता हरिंदर जीत कौर और पिता अवतार सिंह ने बताया कि गुरहर्ष की पढ़ाई के साथ संगीत में भी रुचि है। स्कूल समय में सूत्रधार संगीत अकादमी में पंडित विद्यासागर शर्मा से तबला वादन और शास्त्रीय गायन की दो वर्ष तक शिक्षा ली। पंडित विद्यासागर ने बताया कि गुरहर्ष सिंह बेहतरीन एंकर भी हैं। माता-पिता ने बताया कि गुरहर्ष ने हिमाचल के बिलए पहला राष्ट्रपति मेडल जीता है। वर्तमान में गुरहर्ष सिंह लाल बहादुर शास्त्री अकादमी ऑफ एडमिस्ट्रेशन मंसूरी में प्रशिक्षण ले रहे हैं।

गुरहर्ष की तरह जो करेगा मेहनत, मिलेंगे दो लाख
गुरहर्ष के पिता अवतार सिंह ने युवाओं को संदेश दिया कि कुल्लू जिले का जो बेटा गुरहर्ष की तरह मेहनत कर इस मुकाम पर पहुंचेगा, उसे दो लाख रुपये इनाम दिया जाएगा। कहा कि मंसूरी अकादमी के बोर्ड में अब तक हिमाचल और पंजाब के किसी का नाम नहीं है। बेटे ने कड़ी मेहनत कर उस बोर्ड पर अपना नाम दर्ज किया है। अवतार शमशी में फीड का कारोबार करते हैं। माता टीजीटी पद से सेवानिवृत्त हैं।

होनहार को मिले कई सवर्ण पदक
माता हरिंदर जीत कौर ने बताया कि उनका बेटा अब तक कई स्वर्ण और रजत पदक अपने नाम कर चुका है। मसूरी में सबसे ज्यादा अंक पाने पर डायरेक्टर अवार्ड, अच्छा अधिकारी बनने पर रजत जयंती अवार्ड समेत अन्य मेडल मिल चुके हैं। यूपीएससी की ओर से आयोजित परीक्षा में आने वाले रैंक के आधार पर अभ्यर्थी को आईएएस, आईपीएस और आईएफएस के पद मिलते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।