प्रशासन का फैसला: मनाली में पर्यटकों से फास्ट टैग से वसूल किया जाएगा ग्रीन टैक्स #news4
January 26th, 2022 | Post by :- | 264 Views

एनएच अथॉरिटी के टोल टैक्स बैरियर के बाद हिमाचल में पहला ग्रीन टैक्स बैरियर मनाली ऑनलाइन हो गया है। मनाली के रांगड़ी के पास लगे इस बैरियर में अब पर्यटक वाहनों से फास्ट टैग के जरिये ही पेमेंट ली जाएगी। यहां सैलानियों और आम लोगों को जाम जैसी समस्या से निजात मिलेगी।

पर्यटन विभाग की ओर से संचालित इस ग्रीन टैक्स बैरियर को जिला प्रशासन कुल्लू ने अपग्रेड कर ऑनलाइन किया है। कुल्लू प्रशासन की इस पहल का जिलावासियों ने स्वागत किया है। कहा कि ग्रीन टैक्स बैरियर के ऑनलाइन होने से सैलानियों को बड़ी राहत मिलेगी। अमूमन यहां ग्रीन टैक्स लेते वक्त जाम लगा रहता था।

इसमें सैर-सपाटे के लिए आने वाले पर्यटकों के साथ घाटी के आम लोग भी परेशान हो जाते थे। अब ऑनलाइन बैरियर लग गया है। गणतंत्र दिवस के बाद फास्ट टैग के माध्यम से टैक्स लिया जाएगा। उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग ने कहा कि अब फास्ट टैग से ग्रीन टैक्स की वसूली होगी। ऑनलाइन बैरियर की प्रक्रिया युद्धस्तर पर चल रही है। इसे गणतंत्र दिवस के बाद शुरू किया जाएगा।

अब तक पर्ची काटकर लेते थे ग्रीन टैक्स
करीब एक दशक से मनाली के ग्रीन टैक्स बैरियर में अभी तक सैलानियों के वाहनों से पर्ची काट कर ही टैक्स लिया जाता है। इससे यहां जाम लगा रहता है। खासकर पर्यटन सीजन के दौरान यह समस्या और भी विकराल हो जाती है। इससे आम लोगों को भी जाम में फंसना पड़ता है।

सालाना होती है चार से पांच करोड़ की कमाई
मनाली के रांगड़ी में लगे ग्रीन टैक्स बैरियर से सालाना चार से पांच करोड़ रुपये की आय होती है। इसे ऊझी घाटी के प्रीणी, शनाग, बुरूआ, शलीन, नसोगी, ओल्ड मनाली, पलचान, वशिष्ठ तथा चचोगा के विकास पर खर्च किया जाता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।