पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर हिमाचल में अलर्ट, डीआईजी सुमेधा द्विवेदी ने जांची सीमाओं पर व्यवस्था #news4
February 13th, 2022 | Post by :- | 292 Views

ऊना : डीआईजी नॉर्थ रेंज सुमेधा द्विवेदी इन दिनों जिला ऊना के प्रवास पर निकली है। इस दौरान उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ पंजाब से सटी तमाम सीमाओं पर औचक निरीक्षण करके व्यवस्थाओं की जांच की। पंजाब में 20 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव से पूर्व किसी भी अप्रिय घटना को रोकने और सीमाओं पर चुनाव को प्रभावित करने वाले लोगों की गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस द्वारा पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। डीआईजी सुमेधा द्विवेदी ने कहा कि नार्थ रेंज के तहत आने वाली पंजाब सीमाओं के सभी एंट्री प्वाइंटस पर निरीक्षण किया जा रहा है। इसके साथ ही दोनों राज्यों की पुलिस के बीच नशे की तस्करी को रोकने के लिए भी संयुक्त पुलिस अभियान पर बल दिया जा रहा है।

पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान पंजाब के साथ लगते हिमाचल के क्षेत्र में सुरक्षा के मद्देनजर डीआईजी सुमेधा द्विवेदी ने आज जिला ऊना की पंजाब के साथ सटी सीमाओं पर निरीक्षण किया। इस दौरान डीआईजी सुमेधा द्विवेदी के साथ जिला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी मौजूद रहे। डीआईजी ने सबसे पहले दल बल सहित भटोली प्रवेश द्वार का निरीक्षण किया और उसके बाद मैहतपुर, अजौली, संतोषगढ़ सहित जिला की अन्य सीमाओं पर पहुंच बॉर्डर्स पर व्यवस्थाओं को जांचा।

डीआईजी सुमेधा द्विवेदी ने कहा कि बॉर्डर्स एरिया पुलिस की दृष्टि से संवेदनशील रहते है। पंजाब में होने वाले चुनावों के मद्देनजर पंजाब के साथ लगती हिमाचल की सीमाओं पर चौकसी बढ़ाई जा रही है। डीआईजी ने कहा कि अपराध की रोकथाम के साथ-साथ शांतिपूर्ण मतदान के लिए हिमाचल पुलिस सदैव पंजाब पुलिस की मदद करने को तत्पर है। उन्होंने कहा कि जहां जहां दोनों राज्यों की आबादी या सीमाओं के आसपास स्थित है वहां पर भी पुलिस विभाग द्वारा पैनी निगाह रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि फिलहाल तो चुनावों को लेकर भी मुस्तैदी बरती जा रही है लेकिन इसके बावजूद चुनावी माहौल के बाद नशा तस्करों के खिलाफ ज्वाइंट एक्शन के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। ऐसी परिस्थिति के बीच दोनों राज्यों के एंट्री प्वाइंट के साथ-साथ सघन आबादी वाले क्षेत्रों पर भी पुलिस का फोकस रहेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।