लॉकडाउन के बीच घर में पढ़ाई के लिए खाका तैयार, बनेंगे वाट्सएप ग्रुप; जानिए किस तरह होगी पढ़ाई
April 11th, 2020 | Post by :- | 242 Views

स्कूली बच्चों को घर में पढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग ने खाका तैयार कर लिया है। इसके तहत तीन वाट्सएप ग्रुप तैयार किए जाएंगे। पहले ग्रुप में उपनिदेशक सभी स्कूलों के प्रिंसिपल और हेड मास्टर को शामिल करेंगे। इसमें जो भी स्टडी मेटेरियल विभाग या सरकार की ओर से भेजा जाना है, उसे स्कूलों तक पहुंचा दिया जाएगा। हर स्कूल का एक अलग से वाट्सएप ग्रुप प्रिंसिपल को तैयार करना होगा। इसमें शिक्षकों को बच्चों को पढ़ाए जाने वाले पाठ्यक्रम को भेजा जाएगा।

शिक्षकों की जिम्मेदारी है कि उन्हें स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का वाट्सएप ग्रुप तैयार करना है। इसमें यदि परेशानी आती है तो मुख्याध्यापक उनकी मदद करेंगे। इस वाट्सएप ग्रुप में शिक्षक बच्चों को रोजाना पढ़ाए जाने वाले वीडियो या मैसेज शेयर करेंगे। इसी वाट्सएप ग्रुप में बच्चों अगर कोई दिक्कत पढ़ाई में आती है तो शिक्षक से जानकारी ले सकेंगे। शिक्षक को हर स्टडी मेटेरियल को बच्चों के साथ शेयर करना होगा।

उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ. अमरजीत सिंह की ओर से जारी अधिसूचना में साफ है कि यदि कोई शिक्षक अपने स्तर पर स्टडी मेटेरियल तैयार कर छात्रों को डालता है तो इसमें कोई रोक नहीं होगी। इस मेटेरियल से छात्रों को लाभ मिलता है तो शिक्षक के कार्यों की सराहना वाट्सएप ग्रुप से सार्वजनिक तौर पर की जाएगी। शिक्षक का स्टडी मेटेरियल सही लगता है तो इसे पूरे प्रदेश में बच्चों को भेजा जाएगा। डॉ. अमरजीत सिंह ने बताया कि रोजाना बच्चों को पढ़ाने का कार्यक्रम शुरू करने का पूरा खाका तैयार कर लिया है।

डिप्टी डायरेक्टर तैयार करेंगे टाइम टेबल

बच्चों को घरों में कैसे पढ़ाया जाना है। इसका पूरा टाइम टेबल तैयार किया जाएगा। रोजाना 10 बजे से एक घर में ही स्कूल लगेगा। इस दौरान किस समय क्या पढ़ाया जाना है। किस समय दूसरा विषय पढ़ाया जाना है। इसका पूरा टाइम टेबल डिप्टी डायरेक्टर तैयार करेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।