सौ दिनों में कितने लोगों ने नौकरियां गंवाई और अर्थव्यवस्था को कितने झटके लगे, यह भी बताएं अनुराग: राजेंद्र राणा
September 10th, 2019 | Post by :- | 381 Views

सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने कहा है कि मीडिया में आए दिन देश की अर्थव्यवस्था में भारी मंदी आने और कारपोरेट सेक्टर से हजारों लोगों की छंटनी होने की खबरें सुर्खियां बन रही है और ऐसे में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर किस मुंह से सरकार के 100 दिनों के कार्यकाल की तारीफों के पुल बांधते फिर रहे हैं।
आज यहां जारी एक बयान में उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था का गुणगान करने वाले अनुराग ठाकुर को शायद आंकड़ों की हकीकत मालूम नहीं है या फिर वह स्थिति से आंखें मूंदने की कोशिश कर रहे हैं। राजेंद्र राणा ने कहा कि केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री ने एक बार फिर से हमीरपुर तक रेल पहुंचाने का शिगूफा छोड़कर जनता को गुमराह करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा अपने पिछले कार्यकाल के दौरान अनुराग ठाकुर ने हमीरपुर की जनता से यह वादा किया था कि वह इन 5 सालों के दौरान हमीरपुर में रेल पहुंचा कर छोड़ेंगे लेकिन 5 साल बीत गए और जनता देखती रह गई। उन्होंने कहा कि जनता घोषणाओं में नहीं बल्कि धरातल पर रेल पटरी बिछते हुए देखना चाहती है।
देश की चिंताजनक स्थिति में पहुंच चुकी अर्थव्यवस्था पर मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए राजेंद्र राणा ने कहा कि सांसद अनुराग ठाकुर को जनता को यह जवाब भी देना चाहिए कि इन 100 दिनों के दौरान देश में कारपोरेट , ऑटोमोबाइल व टेक्सटाइल क्षेत्र में करीब चार लाख लोगों को किस लिए अपनी रोजी-रोटी गंवानी पड़ी और किस कारण 10 लाख लोगों की नौकरियों पर खतरे की तलवार लटक रही है।
राजेंद्र राणा ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार देश में अर्थव्यवस्था का पूरी तरह भट्ठा बैठ जाने से देश की जनता चिंतित है। युवाओं के लिए रोजगार के दरवाजे बंद हो चुके हैं। जो लोग पहले से प्राइवेट सेक्टर में नौकरियों में लगे थे, उन्हें भी मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण नौकरियां गंवानी पड़ी हैं। उन्होंने कहा आजादी के बाद पहली बार पिछले 5 सालों के दौरान भारतीय रिजर्व बैंक से 54 हजार करोड़ रुपए उठाए गए और अब आने वाले एक वर्ष में एक लाख 76 हजार करोड रुपए उठाई जा रहे हैं जो अत्यंत चिंतनीय है। उन्होंने कहा कि अनुराग ठाकुर वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री हैं लिहाजा उन्हें देश की जनता को यह भी बताना चाहिए कि मोदी सरकार के कार्यकाल में ऐसी स्थिति किस लिए आई है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि क्या अनुराग ठाकुर इसे भी मोदी सरकार की 100 दिन की बड़ी उपलब्धि मानते हैं।
राजेंद्र राणा ने कहा कि सांसद अनुराग ठाकुर जनता को यह भी बताएं कि वे इन 100 दिनों के दौरान हिमाचल प्रदेश के लिए कितने नए विकास के प्रोजेक्ट मंजूर करवा कर लाए हैं और हिमाचल में लंबित विकास के प्रोजेक्टों के लिए वित्त मंत्रालय ने कितनी राशि जारी की है। उन्होंने कहा कि अब तो अनुराग ठाकुर के सामने यह बहाना भी नहीं है कि मोदी सरकार में उनकी पूछ नहीं हो रही।
वहीं टोणी देवी ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष सुशील पठानिया ,ब्लाक समिति सदस्य ठाकुर लेखराज व टोणी देवी ब्लॉक कांग्रेस के उपाध्यक्ष प्रेम डोगरा ने विधायक राजेंद्र राणा के खिलाफ बयान बाजी करने पर भाजपा नेताओं पर करारा पलटवार करते हुए जानना चाहा है कि हमीरपुर में चिट्टे के साथ पकड़े गए युवकों का भाजपा से गहरा संबंध होने के कारण शर्मसार होने की बजाए वे किस मुंह से दूसरों पर कीचड़ उछाल रहे हैं। आज यहां जारी एक संयुक्त बयान में कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा नेताओं को जनता के सामने यह भी स्पष्ट करना चाहिए कि मौत के सौदागरों के साथ उनकी सहानुभूति किस लिए है और सांसद अनुराग ठाकुर का वह करीबी क्रिकेट एसोसिएशन का पदाधिकारी कौन है जिसके बेटे को बचानेे के भाजपा नेताा सिर से पांव तक जोर लगा रहे हैं। जिला में इतनी बड़ी घटना घट जाने के बावजूद भाजपा नेताओं के होठ किस लिए सिले हुए हैं ।
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि इलाके की जागरूक जनता यह भलीभांति जानती है कि विधानसभा चुनावों के दौरान सुजानपुर के एक निजी होटल से शराब की कि किस तरह बंदरबांट होती रही और भाजपा के ही समर्थक शराब की सप्लाई को लेकर आपस में उलझते रहे।
इन नेताओं ने कहा कि हाल ही में लोकसभा चुनावों के दौरान इलाके में पानी की तरह शराब बहाई गई और वोटों के लिए युवाओं को नशे की लत लगाने में भाजपा नेता पीछे नहीं रहे। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि विधायक राजेंद्र राणा कि जिंदगी खुली किताब की तरह है और लोग उनके सामाजिक व मानवता की सेवा के कार्यों के लिए उनका दिल से सम्मान करते हैं जो भाजपाइयों को रास नहीं आ रहा है। कांग्रेस नेताओं नेे कहा नशे के सौदागरों को संरक्षण देने के मामले में जिस तरह खुद ही भाजपा नेता जनता के सामने बेनकाब हो रहे हैं, उससे भाजपा की पार्टी विद ए डिफरेंस की कलाई भी जनता के सामने खुल गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।