अपनी ही सरकार को घेरा अनुराग ने, निशाने पर खेल मंत्री गोविंद ठाकुर
October 26th, 2019 | Post by :- | 147 Views
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने अपनी ही सरकार को घेरा। अपरोक्ष रूप से उन्होंने खेल मंत्री गोविंद ठाकुर को निशाने पर रखा। अनुराग ने कहा कि अगर खेल मंत्री हमीरपुर आते तो उन्हें 7.50 करोड़ रुपये से निर्मित सिंथेटिक खेल स्टेडियम की दुर्दशा से अवगत करवाते। कहा कि सिंथेटिक ट्रैक में घास उगी हुई है। शौचालयों की हालत खराब है। यहां कोई माली या सिक्योरिटी गार्ड तक नहीं है। अनुराग ठाकुर सांसद स्टार खेल महाकुंभ के पारितोषिक वितरण समारोह में बोल रहे थे। दरअसल, खेल मंत्री गोविंद ठाकुर को खेल महाकुंभ के लिए बतौर मुख्यातिथि आमंत्रित किया गया था। आयोजक कई दिन से तैयारियों में जुटे थे, लेकिन कार्यक्रम से 20 घंटे पूर्व उनका कार्यक्रम रद्द हो गया। प्रशासन को शुक्रवार देर शाम इसकी सूचना फैक्स से दी गई।

अनुराग ठाकुर शुक्रवार देर रात तक हरियाणा में भाजपा की सरकार बनाने के लिए जेजेपी सुप्रीमो दुष्यंत चौटाला के साथ दिल्ली में व्यस्त थे। खेल मंत्री का कार्यक्रम रद्द होने की सूचना मिलते ही अनुराग अति व्यस्त शेड्यूल के बावजूद फ्लाइट लेकर गगल पहुंचे। वहां से सीधे आयोजन स्थल टाउन हाल हमीरपुर।
अनुराग ने कहा कि उन्होंने महज सात माह में नादौन स्थित अंतरराष्ट्रीय खेल स्टेडियम का निर्माण करवाया।

उन्होंने अपनी ही सरकार पर सवाल उठाया कि सात साल पहले हमीरपुर के अणु स्थित जिस इंडोर स्टेडियम की नींव रखी थी, उसका कार्य आज तक क्यों पूरा नहीं हो पाया? सरकार को सवा साल पहले सेंटर फॉर एक्सीलेंस का प्रस्ताव दिया, उस पर क्यों कोई कार्य नहीं हुआ? हॉकी समेत अन्य खिलाड़ियों को सरकार के इर्द-गिर्द चक्कर काटने पड़ते हैं।

उन्होंने डीसी हमीरपुर को समीक्षा बैठक बुलाकर और सरकार से बात कर दो माह में इंडोर स्टेडियम का कार्य पूरा करने को कहा। कहा कि सरकार को युवा खिलाड़ियों और कोच के बीच आंकलन करने की जरूरत है। सभी स्कूलों में चेस खेल को अनिवार्य किया था, कितने स्कूलों ने इस पर अमल किया, इसका आकलन होना चाहिए। अगर सरकार के पास बजट का अभाव है तो खेल संस्थाएं इसमें सहयोग कर सकती हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।