ज़िला काँगड़ा में किसी भी प्राइवेट मेडिकल प्रेक्टिशनर/ डॉक्टर ……
March 27th, 2020 | Post by :- | 698 Views

ज़िला काँगड़ा में किसी भी प्राइवेट मेडिकल प्रेक्टिशनर/ डॉक्टर (एलोपेथिक, आयुर्वेदिक, होमियोपैथी, तिब्बती या कोई अन्य विधा इत्यादि) के पास यदि बुखार, खांसी, सांस की परेशानी से प्रभावित व्यक्ति इलाज़ के लिए पहुँचता है तो डॉक्टर द्वारा मरीज़ के पिछले 28 दिन में उसकी विदेशी यात्रा या भारत के अन्य राज्यों में यात्रा का ब्यौरा लिया जाना अनिवार्य होगा | यदि ऐसा मरीज़ (i) विदेशी नागरिक है या (ii) कोई ऐसा व्यक्ति है जो पिछले 28 दिन में विदेशी यात्रा या भारत के अन्य राज्यों में यात्रा करके लौटा है, तो उस दशा में प्राइवेट मेडिकल प्रेक्टिशनर/ डॉक्टर को यह सूचना 1077 पर देना अनिवार्य होगा | इन आदेशों का उल्लंघन आई. पी. सी. धारा 269 एवं 270 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 में दंडनीय होगा |

If any person/ patient visits any private medical practitioner/ doctor (allopathic, AYUSH, Tibetan or any other alternative form of medicine/ treatment) with symptoms of fever, cough, shortness of breath or respiratory problems then the private medical practitioner/ doctor shall obtain complete travel history of such person/ patient for the last 28 days and he shall immediately inform the District Administration on 1077 if such symptomatic person/ patient is: (a) a foreigner; (b) any person who has returned from a foreign country or from any State of India within the last 28 days. For non-compliance of this order, private medical practitioner/ doctor shall be punishable under Sections 269 & 270 of IPC and Section 51 of DM Act, 2005.

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।