चयनित होने के दो महीने बाद भी नहीं मिली भाषा अध्यापकों को नियुक्ति #news4
January 4th, 2022 | Post by :- | 118 Views

शिमला : प्रदेश में बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है, युवा नौकरी की तलाश कर रहे हैं। सरकार रोजगार देने के बजाय युवाओं से भद्दा मजाक कर रही है। पोस्ट कोड 814 के तहत हमीरपुर चयन आयोग ने 229 पदों पर भाषा अध्यापकों को 12 नवंबर 2021 चयनित किया है, जिसमें से केवल 4 जिलों में 29 भाषा अध्यापकों को नियुक्ति दी है जबकि 200 भाषा अध्यापक लगभग 2 महीने से नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। कमीशन पास करने के बाद भी नियुक्ति न मिलना सरकार व शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करता है। शिक्षा विभाग की लापरवाही इन भाषा अध्यापकों पर भारी पड़ रही है। 200 भाषा अध्यापक ऐसे हैं जिन्होंने कमीशन ने चयनित किया है लेकिन अब स्कूलों में पद खाली न होने के कारण इन्हें नियुक्ति ही नहीं मिल रही। भाषा अध्यापकों को एसएमसी के अगेंस्ट नियुक्ति दी जानी थी लेकिन सरकार एसएमसी को लेकर कोई नीति नहीं बना पाई है जिससे भाषा अध्यापकों की नियुक्ति अधर में लटक गई है।

चयनित भाषा अध्यापकों ने कहा कि नियुक्ति न मिलने पर परीक्षा पास कर चुके लोगों में भारी रोष है। उनका कहना है कि हिमाचल के इतिहास में पहली बार हुआ है कि कमीशन पास करने के बाद भी नियुक्ति नहीं दी जा रही है और उन्हें इसके लिए मुख्यमंत्री से मिलना पड़ रहा है। परीक्षा परिणाम 12 नवंबर, 2021 को घोषित किया गया था। उसके बाद केवल चार जिलों में लोगों को नियुक्ति दी गई है जबकि 8 जिलों में परीक्षा पास करके भी भाषा अध्यापक नियुक्ति के लिए तरस रहे हैं। सरकार एक सप्ताह के भीतर नियुक्ति करे अन्यथा उनको भी कोई दूसरा रास्ता इख्तियार करना पड़ेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।