बेटी बचाओ एवं स्वच्छता का संदेश देने निकली सेना व आईटीबीपी
September 2nd, 2019 | Post by :- | 152 Views

भारतीय सेना तथा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के जवान स्वास्थ्य, स्वच्छ भारत के साथ-साथ बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के बारे में समाज को जागरूक करने के उद्देश्य से सयुंक्त ट्रेकिंग और साईक्लिंग अभियान पर निकले हैं। भारतीय सेना और आईटीबीपी के सयुंक्त टेऊकिंग व साईक्लिंग अभियान को आज कमाण्डर (त्रिपिक) ब्रिगेडियर गु्रप ने पूह से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल द्वितीय वाहिनी के उप सेनानी ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि समाज को विभिन्न मुद्दों पर जागरूक करने के साथ-साथ अभियान का उद्देश्य भारत तिब्बत सीमा पुलिस और भारतीय सेना के बीच आपसी तालमेल तथा सहयोग को बढ़ाना है। इससे दोनों का मनोबल विकसित होने में मदद मिलेगी और एक दूसरे के तौर-तरीकों को जानने का भी अवसर प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि संयुक्त अभियान में भारत तिब्बत सीमा पुलिस की ओर से द्वितीय वाहिनी कुल्लू और भारतीय सेना की 16 पंजाब (पटियाला) वाहिनी के कुल तीन अधिकारी हैं जिनमें एक महिला अधिकारी भी शामिल है, के अलावा दो अधीनस्थ अधिकारी और 12 जवान भाग ले रहे हैं।
संयुक्त अभियान स्पिति घाटी के दुर्गम, संकरे एवं जोखिम भरे मार्गों से गुजरेगा। अभियान को दो चरणों में पूरा किया जाएगा। प्रथम भाग में संयुक्त अभियान दल बातल से बारालाचा-ला तक की दूरी चार दिन की पैदल यात्रा करते हुए पूरी करेगा। इसके पश्चात वहीं से दूसरे चरण में यह दल बारालाचा ला दर्रे से कुल्लू स्थित बवेली तक की दूरी साईकल से पूरा करेगा और अन्तत: बवेली में संयुक्त दल का अभियान सम्पूर्ण होगा। उन्होंने बताया कि संयुक्त दल लाहौल-स्पिति के दूर दराज के क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों के बीच स्वास्थ्य, स्वच्छ भारत तथा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के बारे में जागरूकता उत्पन्न करने के उद्देश्य से जिस्पा और शिशु गांवों में नि:शुल्क चिकित्सा शिविरों का आयोजन भी करेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।