मकर संक्रांति 2022 पर बन रहे हैं शुभ संयोग, जानिए दान के मुहूर्त और ग्रहों की चाल #news4
December 20th, 2021 | Post by :- | 98 Views
नववर्ष 2022 में मकर संक्रांति का त्योहार (Makar Sankranti 2022) शुक्रवार, 14 जनवरी को मनाया जाएगा। मकर संक्रांति का पर्व किसानों का मुख्य त्योहार माना गया है। इस दिन भगवान सूर्यदेव की पूजा करने का विशेष महत्व है। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार पौष महीने में जब सूर्य मकर राशि में आता है तब यह त्योहार मनाया जाता है। यह एक प्रसिद्ध हिन्दू त्योहार है, जिसे भारत के साथ कई अन्य देशों में भी मनाया जाता है। यह पावन पर्व प्रतिवर्ष 14 या 15 जनवरी को पड़ता है।
इस बार सूर्यदेव 16 दिसंबर 2021 से 14 जनवरी 2022 तक धनु राशि में रहेंगे तब खरमास रहेगा, जो कि 14 जनवरी 2022 को इसका समापन होगा।
14 जनवरी को ग्रहों की चाल- उसी दिन सूर्यदेव मकर राशि में प्रवेश करेंगे और सूर्य की मकर संक्रांति (Makar Sankranti) शुरू होगी तथा 14 जनवरी 2022 को मकर संक्रांति पर्व मनाया जाएगा। 14 जनवरी 2022 को बुध ग्रह मकर राशि में वक्री होंगे तथा 4 फरवरी 2022 को बुध वक्री से मार्गी हो जाएंगे।

इस बार मकर संक्रांति 2022 में कुछ खास शुभ संयोग बन रहे हैं। इस समयावधि में आप दान कर सकते हैं।
मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त Makar Sankranti Ka Shubh Muhurat
14 जनवरी 2022, शुक्रवार
संक्रांति काल- 14.42 मिनट।
पुण्यकाल – दोपहर 02.43 से शाम 05.45 तक।
पुण्य काल अवधि- कुल 03 घंटे 02 मिनट तक।
महा पुण्यकाल- दोपहर 02.43 से रात्रि 04.28 तक
महा पुण्यकाल अवधि- 01 घंटा 45 मिनट तक।
14 जनवरी 2022 संक्रांति स्नान-
सुबह- 14.12.26 से
अभिजीत मुहूर्त- 11.46 एएम से 12.29 पीएम तक।
अमृत काल- 04.40 पीएम से 06.29 पीएम तक।
ब्रह्म मुहूर्त- 05.38 एएम से 06.26 एएम
विजय मुहूर्त- 01.54 पीएम से 02.37 पीएम तक।
गोधूलि बेला- 05.18 पीएम से 05.42 पीएम तक।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।