आयुर्वेदिक चिकित्सक ने फंदा लगाकर दी जान, सुसाइड नोट में ये लिखा
December 26th, 2019 | Post by :- | 156 Views

जिला हमीरपुर की पुलिस चौकी बिझड़ी के तहत स्थानीय कस्बा में किराये के कमरे में रह रहे आयुर्वेदिक चिकित्सक ने बुधवार देर रात फंदा लगाकर जान दे दी। मृतक आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र धंगोटा में तैनात था। वह डिप्रेशन में था। पुलिस को मृतक के शव के पास सुसाइड नोट मिला है। जिसमें मृतक ने डिप्रेशन व सिर दर्द को अपनी मौत का कारण बताया है। सुसाइड नोट में उसने लिखा है कि आप मुझे नहीं बचा सकते, डिप्रेशन ने मुझे मारना ही है, प्लीज फॉरगिव मी। उसने सुसाइड नोट में अपने बच्चों व पत्नी की तारीफ की और माफी मांगी। वहीं पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है। गुरुवार को शव का पोस्टमार्टम करवाया गया।

डॉ. अदितेश शर्मा पुत्र योगराज निवासी गांव यान्हवीं डाकघर धमरोल तहसील भोरंज आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र धंगोटा में तैनात था। वह बिझड़ी में किराये के कमरे में रहता था। घटना के समय उसकी पत्नी अपने दो माह के बेटे और चार साल की बेटी के साथ मायके में थी। वह 24 दिसंबर को अपने ससुराल गया और रात वहां गुजारने के बाद 25 दिसंबर सुबह अपने किराये के कमरे आ गया।

25 दिसंबर को करीब ढाई बजे उसकी बात उसकी पत्नी से हुई और उसने कहा कि वह अभी आराम कर रहा है और शाम को वहां आ जाएगा। लेकिन पांच बजे के बाद उसका मोबाइल बंद हो गया। जब शाम को वह ससुराल नहीं पहुंचा तो उसका ससुर व पत्नी किराये के कमरे में पहुंचे। जहां देखा कि वह फंदे से झूल रहा था। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी।

मृतक अपने पिता का इकलौता बेटा था। जबकि उसके यहां दो माह पहले ही किलकारियां गूंजी थीं। दो माह के बेटे व चार साल की बेटी और पत्नी को वह अपने पीछे छोड़ गया है। पुलिस अधीक्षक अर्जित सेन ठाकुर ने कहा कि मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाया गया है। शव के पास सुसाइड नोट बरामद हुआ है। जिसमें डिप्रेशन को उसने मौत का कारण बताया है। मामला दर्जकर छानबीन की जा रही है।

इसी साल एमबीबीएस चिकित्सक और स्टाफ नर्स ने भी की आत्महत्या
हमीरपुर जिला में एक वर्ष के भीतर जिले के दो चिकित्सकों और हमीरपुर मेडिकल कॉलेज की स्टाफ नर्स ने आत्महत्या कर अपनी इहलीला समाप्त की है। इससे पहले हमीरपुर जिला के रहने वाले एक एमबीबीएस चिकित्सक ने भी इसी साल अपने कमरे में आत्महत्या की थी। जबकि बीते माह हमीरपुर में तैनात स्टाफ नर्स मोनिका ने भी अपने किराये के कमरे में फंदा लगाकर जान दी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।