बाबा बालकनाथ मिटाएंगे हमीरपुर में लोगों की भूख, मंदिर के खजाने से मिलेगा राशन
March 26th, 2020 | Post by :- | 207 Views

कोरोना वायरस के चलते जिला हमीरपुर में लागू कर्फ्यू के दौरान दियोटसिद्ध के बाबा बालकनाथ लोगों को भोजन की कमी नहीं होने देंगे। कर्फ्यू के दौरान मंदिर के खजाने से लोगों को आटा-चावल और दालें मिलेंगी। उत्तर भारत के प्रसिद्ध सिद्धपीठ बाबा बालकनाथ मंदिर ट्रस्ट दियोटसिद्ध के सहयोग से राशन का आवंटन होगा। मंदिर आयुक्त एंव उपायुक्त हरिकेश मीणा ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी उपमंडलाधिकारी और खंड विकास अधिकारियों के साथ कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने संबंधी उपायों तथा लोगों तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के प्रबंधों की समीक्षा की।

बैठक में लोगों को आवश्यक वस्तुओं व दवाओं इत्यादि की आपूर्ति निर्धारित अवधि में सुनिश्चित करने पर चर्चा की गई। प्रत्येक ऐसे परिवार को 10 किलो आटा, पांच किलो चावल, एक-एक किलो दाल के दो पैकेट, नमक, तेल तथा मसाले इत्यादि उपलब्ध करवाए जाएंगे।

इस पूरी सामग्री की कीमत लगभग 700 से 800 रुपए प्रति पैकेट जिला रेडक्रॉस सोसायटी व मंदिर ट्रस्ट द्वारा वहन की जाएगी। मंदिर ट्रस्ट को ऐसे पैकेट तैयार करने के निर्देश दे दिए गए हैं। प्रवासी मजदूरों का पंचायत स्तर पर ब्यौरा संबंधित खंड विकास अधिकारियों के माध्यम से एकत्र किया जा रहा है।

यह मजदूर किस ठेकेदार के लिए कार्य करते हैं और उनके परिवार में कितने सदस्य वर्तमान में यहां हैं। प्रवासी मजदूरों की बस्तियों से संबंधित आधारभूत जानकारी प्राप्त की गई है। कर्फ्यू के दौरान इन्हें भोजन की समस्या न रहे, इसके लिए इन सभी गरीब परिवारों को राशन इत्यादि की व्यवस्था बाबा बालकनाथ मंदिर ट्रस्ट दियोटसिद्ध और जिला रेडक्रॉस सोसायटी, हमीरपुर के माध्यम से आवंटित करने की कार्य योजना जिला प्रशासन ने तैयार की है। उन्होंने विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं, संगठनों व दानी-सज्जनों से भी गरीब व असहाय परिवारों की मदद में सहयोग का आग्रह किया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।