बठाहड़ का स्वास्थ्य उपकेंद्र खुद बीमार, जनता कहां करवाएं अपना प्राथमिक उपचार। #news4
May 23rd, 2022 | Post by :- | 105 Views

बंजार (कुल्लू):- जिला कुल्लू उपमंडल बंजार के दूरदराज क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर बेहतर सुविधा देने का दावा करने वाले विभाग का आलम यह है कि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को प्राथमिक उपचार की सुविधा भी हासिल नहीं हो रही है। तीर्थन घाटी की तीन ग्राम पंचायतों तुंग, मश्यार और शिल्ही के केन्द्र बिन्दु बठाहड़ में चार दशक पहले सरकार द्वारा यहां के हजारों लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए स्वास्थ्य उपकेंद्र तो बना दिया लेकिन स्टाफ की कमी और भवन की बदहाली के कारण यह सफेद हाथी बन कर रह गया है।

यहां के स्थानीय लोगों निका राम, कमल सिंह, नीरत सिंह, पन्नालाल, शिलही पंचायत के पूर्व प्रधान प्यारे चंद, मानता ठाकुर, कुंवर सिंह, भीमसेन, देवकीनंद, ठाकुरदास, पदम सिंह, हमेश चौहान आदि
का कहना है कि अगर दूर दराज के गांव में कोई व्यक्ति बीमार पड़ता है या कोई छोटी मोटी बीमारी हो तो उसे कई किलोमीटर दूर बंजार या जिला मुख्यालय कुल्लू के किसी निजी या सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए ले जाना पड़ता है। लोगों का कहना है कि सरकार द्वारा यहां के हजारों लोगों के लिए लाखों रुपए खर्च करके स्वास्थ्य उपकेंद्र तो खोला है लेकिन यहां पर ना तो कोई स्टाफ नर्स और ना ही कोई फार्मासिस्ट है। जिस कारण लोगों को यहां पर ना तो दवाईयां मिल रही है और न ही प्राथमिक उपचार की सुविधा है। स्टाफ की कमी के कारण इस स्वास्थ्य उपकेन्द्र में महीनों से ताला लटका पड़ा है और जर्जर भवन के चारों ओर गन्दगी के ढेर लगे हुए हैं।

हालांकि स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा समय समय पर विभाग को लिखित, मौखिक और मीडिया के माध्यम से इस उपकेंद्र के सुधार की मांग की जाती रही है। लेकिन विभाग द्वारा इस भवन की दशा सुधारने और स्टाफ की नियुक्ति बारे कोई भी उचित कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। जिस कारण यहां के स्थानीय लोगों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

ग्राम पंचायत शिल्ही के उप प्रधान एवं बंजार क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के युवा नेता मोहर सिंह ठाकुर ने सरकार से मांग की है कि शीघ्र ही स्वास्थ्य उप-केंद्र बठाहड में रिक्त पड़े पदों को भरा जाए और इस खस्ताहाल भवन की दशा सुधारे। इन्होंने कहा कि दूर दराज गांव के लोगों को प्राथमिक उपचार के लिए भी दर दर भटकना पड़ रहा है। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं और शिशुओँ का टीकाकरण करने में भी आमजनता काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

मोहर सिंह ने बताया कि कहां तो सरकार को स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार करना चाहिए लेकिन यहां पर पुराने बने स्वास्थ्य उपकेंद्र में भी ताले लटके पड़े हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा ग्राम पंचायत शिल्ही के लिए प्रस्तावित उप स्वास्थ्य केन्द्र खोलने की अधिसूचना को रद्द करने से यहां के लोगों में भारी रोष व्याप्त है। इन्होनें कहा कि बंजार क्षेत्र में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली को लेकर यहां के युवा सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेंगे।

ग्राम पंचायत तुंग और मश्यार की पंचायत समिति सदस्य कमला देवी का कहना है विभाग को यहां के ग्रामीण क्षेत्रों में भी स्वास्थ्य सेवाओं की सुध लेनी चाहिए। इन्होंने कहा कि वर्तमान में यहां के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क और पेयजल जैसी मूलभूत सुविधाओं की भारी कमी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।