सरकार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रयासरत : बिक्रम सिंह
November 24th, 2019 | Post by :- | 169 Views

मंडी, 24 नवम्बर: उद्योग, श्रम एवं रोजगार व तकनीकी शिक्षा मंत्री बिक्रम सिंह ने कहा कि हिमाचल सरकार युवाओं के कौशल विकास पर जोर दे रही है। उन्हें रोजगार के नए अवसर देने के लिए बाजार की मांग के अनुरूप प्रशिक्षण दिया जा रहा है, ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें। कौशल विकास भत्ता योजना के तहत बीते करीब दो साल में प्रदेश के 1.33 लाख युवाओं के हुनर को निखारने पर करीब 80 करोड़ रुपए खर्चे गए हैं।

बिक्रम सिंह ने यह जानकारी रविवार को सराज विधान सभा क्षेत्र के तहत थुनाग में आयोजित जिलास्तरीय रोजगार मेले के अवसर पर युवाओं को सम्बोधित करते हुए दी।
उन्होंने कहा कि कौशल विकास भत्ता योजना के तहत पिछले वित्त वर्ष में प्रदेश के 80566 पात्र अभ्यर्थियों को 56.78 करोड़ रुपए भत्ते के तौर पर प्रदान किए गए। जबकि इस वित वर्ष में अब तक 53107 अभ्यर्थियों को 22.94 करोड़ के भत्ते प्रदान किए जा चुके हैं।
बिक्रम सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार का लक्ष्य है कि रोजगार मेलों के माध्यम से युवाओं को उनकी दक्षता व योग्यता के अनुरूप रोजगार के बेहतर अवसर मुहैया करवाए जाएं। श्रम रोजगार कार्यालयों द्वारा निजी क्षेत्र में भी बेरोजगार अभ्यर्थियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए बेरोजगार अभ्यर्थियों एवं कंपनियों को एक ही स्थान पर आमंत्रित कर रोजगार मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

201 मार्गदर्शन शिविरों का आयोजन, 28776 युवाओं को पहुंचा लाभ

बिक्रम सिंह ने कहा कि हिमाचली युवाओं को सार्थक रोजगार मिल सके इसके लिए उनकी दक्षता के स्तर को बढ़ाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। श्रम एवं रोजगार विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से युवाओं का रोजगार, कौशल विकास व व्यवसायिक मार्ग दर्शन किया जा रहा है । दिसम्बर, 2018 से अब तक 201 कार्यक्रामों व मार्गदर्शन शिविरों का आयोजन कर 28776 युवाओं को लाभ पहुंचाया गया है।

फर्राटेदार अंग्रेजी सीखने की व्यवस्था

उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवाओं को अंग्रेजी भाषा बोलने में दक्षता प्रदान करने के आशय से शिक्षा विभाग तथा तकनीकी शिक्षा विभाग के चुनिन्दा 57 प्रशिक्षण संस्थानों में प्रशिक्षण की सुविधा की गई है। यहां अभी तक 1800 से अधिक युवाओं को अंग्रेजी भाषा प्रशिक्षण प्रदान किया जा चुका है।
बेरोजगारी भत्ते के 50 करोड़
बिक्रम सिंह ने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी भत्ता योजना के तहत बीते करीब दो वर्ष में 72 हजार युवाओं को करीब 50 करोड़ रुपए बेरोजगारी भत्ते के तौर पर प्रदान किए जा चुके हैं। इनमें गत वर्ष 31012 पात्र अभ्यार्थियों को 28.42 करोड़ जबकि इस वित्त वर्ष में 40899 अभ्यार्थियों को करीब 21 करोड़ रुपए बेरोजगारी भत्ते के तौर पर प्रदान किए गए हैं।

आदर्श आजीविका केन्द्रों में बदले जा रहे रोजगार कार्यालय

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार तथा एशियन विकास बैंक की सहायता से प्रदेश में जिला स्तर के रोजगार कार्यालयों को क्रमबद्ध ढंग से आदर्श आजीविका केन्द्रों में बदला जा रहा है। वर्तमान में शिमला तथा ऊना के लिए 2 आजीविका केन्द्र भारत सरकार द्वारा अनुमोदित किए गए हैं। मंडी में मॉडल करियर सेंटर के भवन निर्माण के लिए औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। भूमि का चयन कर लोक निर्माण विभाग को सौंप दी गई है।
प्रदेश सरकार अन्य 10 जिला रोजगार कार्यालयों और उपरोजगार कार्यालय बद्दी को भी चरणबद्ध तरीके से आदर्श आजीविका केन्द्र में परिवर्तित करने के लिए प्रयासरत है। जिला स्तर पर 9 यंग प्रोफेशनल व 2 करियर कॉउन्सलर भी नियुक्त किए गए हैं।

200 कामगारों को इंडक्शन हीटर व सोलर लैम्प

उद्योग मंत्री ने इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के 200 पात्र कामगारों को इंडक्शन हीटर व सोलर लैम्प भी वितरित किए । लाभार्थियों में सराज के गांव बंसारी, लोंद, चेत, दुधा, घिआर, मजद्वार, दादौन्न, गाड़ा, चमरास, कल्छाम्ब, चेत सोह्जा, डूघा चेत बुराहरा व चोली के लोग शामिल रहे।

घोषणाएं

उद्योग व श्रम एवं रोजगार मंत्री ने उपमण्डल थुनाग में रोजगार कार्यालय खोलने की घोषणा की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला थुनाग के बच्चों द्वारा आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुति के लिए अपनी ऐच्छिक निधि से 11 हजार रुपए देने की घोषणा भी की।

पंजीकरण व चयनित युवा
मेले में जिलाभर के 1215 युवक-युवतियों ने रोजगार हेतु साक्षात्कार के लिए पंजीकरण करवाया। जिनमें से कंपनियों ने आवश्यकतान्रूप 483 युवाओं का चयन किया, इनमें 387 यवुक व 96 युवतियां शामिल हैं।

मुख्य कम्पनियां

मेले में निजी क्षेत्र की लगभग 38 कम्पनियों ने युवाओं के साक्षात्कार लिए । इनमें सन फार्मा, पनेशिया बॉयोटैक, विप्रो, माईक्रोटैक, मोरपैन, कम्पीटेंट ऑटो मोबाइल मंडी प्रमुख कम्पनियां थीं।
उप श्रम आयुक्त आर.पी.राणा व उप निदेशक रोजगार आर.सी.कटोच ने विभाग की ओर से मुख्यतिथि को सम्मानित किया और युवाओं के लिए चलाई जा रही विभिन्न गतिवधियों की विस्तार से जानकारी दी।
स्थानीय प्रशासन व शिकारी देवी मन्दिर समिति की ओर से एसडीएम थुनाग ने मुख्यतिथि को स्मृति चिन्ह भेंट किया। ग्राम पंचायत थुनाग की प्रधान नीलिमा कुमारी ने मुख्यातिथि का स्वागत किया।
इस अवसर पर जिला भाजपा अध्यक्ष रणबीर सिंह, मंडलाध्यक्ष भागीरथ शर्मा, विभिन्न बोर्डों के निदेशक मंडलों के सदस्य चमन ठाकुर, भीष्म ठाकुर व पिताम्बर ठाकुर, एसडीएम थुनाग सुरेन्द्र मोहन, जिला रोजगार अधिकारी एस.आर. कपूर, श्रम अधिकारी पी.सी.ठाकुर सहित अन्य लोग व बड़ी संख्सा में जिले भर के युवा उपस्थित थे

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।