भाजपा मंडल इंदौरा का अन्य पिछड़ा वर्ग व अनुसूचित जाति मोर्चा का मण्डल स्तरीय सम्मेलन सम्पन्न।
April 14th, 2019 | Post by :- | 180 Views

रविवार को भाजपा मंडल इंदौरा का अन्य पिछड़ा वर्ग व अनुसूचित जाति मोर्चा का मण्डल स्तरीय सम्मेलन मुमताज़ पैलेस सूरजपुर में आयोजित किया गया। कार्यक्रम एस.सी.मोर्चा अध्यक्ष सुनील बंटी व ओ.बी.सी. मोर्चा अध्यक्ष जोगिंद्र पाली की संयुक्त अध्यक्षता में आयोजित किया गया। जिसमें क्षेत्र की विधायक रीता धीमान मुख्यातिथि के रूप में सम्मिलित हुईं। वहीं एस.सी. मोर्चा के जिला अध्यक्ष केवल कृष्ण का यहाँ पहुँचने पर भव्य स्वागत किया गया। वहीं भाजपा मंडल इंदौरा द्वारा डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती भी मनाई व कार्यक्रम की शुरुआत अम्बेडकर की प्रतिमा को माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित कर की गई। इस अवसर पर मंडलाध्यक्ष घनश्याम सम्बयाल ने कहा कि यह सम्मेलन उक्त मोर्चों के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों में नई उर्जा का संचार करेगा।
वहीं विधायक रीता धीमान ने उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह लोकसभा चुनाव कांग्रेस बनाम भाजपा नहीं बल्कि पाकिस्तान बनाम भारत है। अब यह देश की जनता को तय करना है कि पाकिस्तान की आँख में आँख डालकर बात करने वाला, देश को सशक्त बनाने वाला प्रधानमंत्री चुनना है या घोटालेबाज सरकार को चुनना है। उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा क्षेत्र के लिए जारी योजनाओं व उपलब्धियों को गिनाया। विधायक ने उपस्थित कार्यकर्ताओं से घर – घर जाकर विकास कार्यों को पहुँचाने की अपील की। उन्होंने कहा कि इतना बजट पिछले 15 वर्षों में इंदौरा क्षेत्र कौ नहीं मिला, जितना माननीय मुख्यमंत्री द्वारा पिछले एक वर्ष में दिया है। उन्होंने इसका भी श्रेय क्षेत्र की जनता को दिया। विधायक ने केंद्र सरकार द्वारा 10 हजार करोड़ की राशि प्रदेश को दिए जाने का भी जिक्र अपने संबोधन में किया। इस अवसर पर भाजपा मंडलाध्यक्ष घनश्याम सम्बयाल, महामंत्री अश्विनी शर्मा, कोषाध्यक्ष शामलाल धीमान, महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष रेणु भंदराल, मंडलाध्यक्ष सृष्टा ठाकुर, प्रवक्ता रजिंद्र विजय, किसान मोर्चा अध्यक्ष परमिंद्र पम्मु सहित सैंकड़ों एस.सी. व ओ.बी.सी. कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।