पार्टी लाइन से हटकर बोले विक्रमादित्‍य सिंह, प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक, पंजाब सरकार करे मामले की जांच #news4
January 6th, 2022 | Post by :- | 131 Views

शिमला : पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में सुरक्षा चूक के मुद्दे पर सियासत गर्म है। कांग्रेस के युवा विधायक विक्रमादित्य सिंह ने इस पर पार्टी लाइन से हटकर बयान दिया है। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट शेयर की है। इसमें उन्होंने लिखा है पंजाब सरकार पर टिप्पणी करना हमारे कार्य अधिकार से अलग है। पिछले कल जो घटनाक्रम वहां पर हुए हैं वह बहुत चिंताजनक है। देश के प्रधानमंत्री वह चाहे किसी भी राजनैतिक दल से क्यों न हो (हम भी उनकी और उनके दल की राजनीतिक सोच से बिलकुल भी इत्तेफाक नहीं रखते) की सुरक्षा में इस तरीके का लैप्स हैरान करने वाला है।

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार को इस मामले की तुरंत जांच करवानी चाहिए। जिन अधिकारियों की ओर से इसमें कमी पाई गई है उन पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। विक्रमादित्य सिंह ने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि एसपीजी प्रधानमंत्री के अंदर के सुरक्षा घेरे का ख्याल रखता है। जिस भी राज्य या देश में वह जाते हैं बाहर का सुरक्षा घेरा उस राज्य और देश की सुरक्षा एजेंसियों द्वारा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि जो तर्क दिया गया है कि प्रधानमंत्री का हेलीकॉप्टर से सभा स्थल तक पहुंचने का कार्यक्रम था इसी लिए यातायात का इंतज़ाम पूर्ण रूप से नहीं किया गया था ठीक नहीं है।

सभी जानते हैं कि जब इस स्तर के वीवीआईपी का कार्यक्रम होता है तो वैकल्पिक रूट प्लान भी तैयार रहता है। यह रूट प्लान तत्कालीन परिस्थिति में निष्क्रमण के लिए रखे जाते हैं ताकि किसी भी परिस्थिति में उन्हें वहाँ से सुरक्षित बाहर निकाला जा सके। विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि कांग्रेस शासित राज्य होने के चलते प्रशासन को इस चीज का और ध्यान रखना चाहिए था कि इस तरह की कोई भी चूक प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में ना हों ताकि राजनीतिक दृष्टि से कोई उंगली न उठा सके, अब चूक हुई है तो कार्रवाई भी निश्चित तौर से होनी चाहिए। इस घटनाक्रम को राजनीतिक दृष्टिकोण से देखने की कोई आवश्यकता नहीं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।