हिमाचल में कैबिनेट जमकर मचा हंगामा
December 4th, 2019 | Post by :- | 93 Views

शिमला। हिमाचल कैबिनेट की बैठक में श्रम विभाग से जुड़े एक एजेंडे का नोट ही बदल दिया गया, जिसे लेकर बैठक में जमकर हंगामा मचा। श्रम विभाग सचिव का आरोप है कि एजेंडा नोट में जो बदलाव किए गए उसकी उन्हें जानकारी ही नहीं थी। इस पर वह बैठक में ही रो पडी, इसके बाद दो बडे अफसरों के बीच कहासुनी हुई, सीएम जयराम ठाकुर भी इस पूरे प्रकरण से हतप्रभ दिखे। मामला तूल पकड़ने लगा तो कैबिनेट ने एजेंडा लौटा दिया। अब इसे अगली बैठक में लाया जाएगा।
मामला बीते सोमवार का है जब हिमाचल कैबिनेट की बैठक के दौरान मजदूरों से जुड़े विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव जब बैठक में पहुंचीं तो एक एजेंडे पर उन्होंने सवाल खड़ा कर दिया। बताया जा रहा है कि हुआ यूं कि विभागीय सचिव ने जो एजेंडा अपने हस्ताक्षर के साथ कैबिनेट को भेजा था, उसमें एक कानून से जुड़े तीन संशोधनों से संबंधित तीन एजेंडे लगे हुए थे। अतिरिक्त मुख्य सचिव ने हैरानी जताई कि एजेंडा फाइल के अंतिम पेज पर तो उनके हस्ताक्षर है लेकिन जो आइटम लगे हैं यह उनकी जानकारी में नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने एजेंडा नोट में बदलाव पर जांच की बात कह दी।
अतिरिक्त मुख्य सचिव की आपत्ति पर सीएम जयराम ठाकुर कुछ बोलने ही वाले थे कि एक आला अधिकारी ने दखल देते हुए कहा कि चूंकि पीएम नरेंद्र मोदी कुछ कानूनों में संशोधन चाहते हैं, इसलिए इन संशोधन को शामिल किया गया है। दलील दी कि विभागीय सचिव विदेश गई हुई थीं, इसीलिए उनके अवर सचिव के माध्यम से यह शामिल कराया गया। हालांकि विभागीय सचिव नहीं मानीं तो विवाद बढ़ता देख सीएम जयराम ठाकुर ने एजेंडा वापस करने के निर्देश दे दिए। लेकिन इस सबके बीच अफसरशाही की पोल खुलकर सामने आई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।