रिश्वत के लेन-देन में केंद्रीय ड्रग इंस्पेक्टर व फार्मा मालिक धरे
August 14th, 2019 | Post by :- | 170 Views

बददी के एक ड्रग इंस्पेक्टर को रिश्वत लेन-देन के आरोप में सीबीआई ने गिरफ्तार किया है। उनके साथ अमृतसर के दवा उद्योग के दोनो निदेशकों को भी हिरासत में लिया गया है। सीबीआई की टीम ने बददी स्थित जोनल कार्यालय में दबिश दी और डिप्टी ड्रग कंट्रोलर बी.के सामंतरे से उनके एक इंस्पेक्टर के बारे में जानकारी ली। उसके बाद टीम ने इंस्पेक्टर अंकुश गोयल मूल निवासी लुधिायान के बरोटीवाला स्थित हिल व्यू कालोनी स्थित आवास में दशि देकर वहां तलाशी ली लेकिन आरोपी इंस्पेक्टर वहां से फरार पाया गया।

फिलहाल उक्त इंस्पेक्टर को व दो उद्यमियों को रिश्वत के लेन देन के आरोप में सीबीआई ने धर दबोच लिया गया। पता चला है कि अमृतसर स्थित एक दवा कंपनी क्वालिटी फार्मासिटीकलस की जांच के लिए गया जिसको डिप्टी ड्रग कंट्रोलर ने भेजा था। उक्त दवा कंपनी का गत दिनों सैंपल फेल हो गया था जिसके लिए पंजाब सरकार ने भी जांच बिठा दी थी। गत दिनो सैंपल फेल होने से उक्त उद्योग कवालिटी फार्मा अमृतसर विवाद में था।

सैंपल फेल होने पर जब तक दवा उद्योग अपना सिस्टम या कार्यप्रणाली ठीक नहीं करता तक वह विभागों के निशाने पर रहता है। सूत्रों से पता चला है कि यह इंस्पेक्टर लंबे समय से सीबीआई के रॉडार पर था और उसकी हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही थी। सीबीआई को जैसे ही भनक लगी कि आज उद्योगपतियों व इंस्पेक्टर में सैंपल पास करने को लेकर लेन देन होनी है तो एक गुप्त स्थान पर छापामार कर तीनों को हिरासतें ले लिया है।

केंद्रीय ड्रग इंस्पेक्टर दो साल से बददी जोनल कार्यालय में तैनात था और मूलतः पंजाब के लुधियाना का रहने वाला है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।