केंद्रीय दल ने किया मौनसून के दौरान हुए नुकसान का आंकलन #news4
November 26th, 2021 | Post by :- | 148 Views
बिलासपुर 26 नवम्बर – अंतर मंत्रालीय केंद्रीय दल (आईएमसीटी) द्वारा आज जिला बिलासपुर में मौनसून के दौरान हुए नुकसान का आंकलन किया गया। इस मौके पर टीम के प्रभारी एवं केन्द्रीय जल आयोग के एससी सुपरिटेंडेंट भूपेश कुमार ने कहा कि वर्ष 2021 में बरसात के दौरान हुए नुकसान का आंकलन करने के लिए अंतर मंत्रालीय केंद्रीय दल बनाया गया है। इसके अंतर्गत प्रदेश में तीन टीमें आंकलन कर रही है जोकि प्रदेश के सभी जिलों में मौनसून में हुए नुकसान का आंकलन कर रही है।
उन्होंने कहा कि बरसात से हुए नुकसान का आंकलन कर वे इसकी रिपोर्ट केन्द्र को प्रस्तुत करेंगे तथा बरसात से हुए नुकसान की भरपाई के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रयास किया जाएगा ताकि प्रभावित लोगों को अधिक से अधिक राहत पहुंचाई जा सके।
अंतर मंत्रालीय केन्द्रीय दल ने घुमारवीं शहर के नजदीक राधा स्वामी संतसंग भवन के समीप वर्ष 2019 से अब तक बरसात के मौसम में लगातार हो रहे भुस्खलन से 20 मीटर लम्बाई के क्षतिग्रस्त सम्पर्क मार्ग पर हुए एक करोड़ रुपये के नुकसान का मौके पर निरीक्षण किया। इसके अतिरिक्त करयालग (बद्धाघाट) कोटला-सोहणी देवी सड़क पर वर्ष 2018 में बरसात के दौरान हुए भारी भुस्खलन से अब तक 85 लाख से ज्यादा का नुकसान हुआ है तथा यह सड़क हर बरसात में बाधित हो जाती है इसका भी केन्द्रीय दल द्वारा मौके पर निरीक्षण किया गया ताकि बार-बार हो रहे भुस्खलन के कारण को जानकर इसे रोका जा सके। निरीक्षण की रिपोर्ट केन्द्रीय सरकार को दी जाएगी ताकि नुकसान की भरपाई व पुनः निर्माण हेतु धन उपलब्ध करवाया जा सके।
इस मौके पर लोक निर्माण विभाग विश्राम गृह घुमारवीं में जल शक्ति, लोक निर्माण, राजस्व और कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की गई। बैठक में प्रस्तुति के माध्यम से अतिरिक्त उपायुक्त तोरुल रवीश ने बताया कि जल शक्ति विभाग के माध्यम से चल रही पेयजल और सिंचाई की विभिन्न 236 योजनाएं बरसात के दौरान प्रभावित हुई जिसमें 14 करोड़ का नुकसान हुआ है।
उन्होंने बताया कि जिला बिलासपुर में 27 हजार हैक्टेयर में मक्की की फसल लगाई गई थी जिसमें से लगभग 4 हजार 30 हैक्टेयर क्षेत्र में मक्की की फसल को मौनसून के कारण भारी नुकसान पहंुचा और लगभग 397 लाख रुपये के नुकसान का आंकलन किया गया है। इसी तरह दाबला-मोरसिंघी सड़क को भी 20 लाख रुपये का नुकसान हुआ है।
इस अवसर पर एसडीएम घुमारवीं राजीव ठाकुर, तहसीलदार गोपाल शर्मा, एस.सी जल शक्ति विजय ढडवालिया, अधिशाषी अभियंता जल शक्ति राकेश वेद्य, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण दीपक कपिल, जिला कृषि अधिकारी देवेन्द्र सांख्यान सहित विभिन्न विभागध्यक्ष मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।