नटराज पेंसिल पैकिंग के नाम पर हो रही ठगी, घर बैठे प्रतिमाह 30 हजार रुपये कमाने का लालच दे रहे साइबर ठग
January 20th, 2023 | Post by :- | 34 Views

शिमला : नटराज पेंसिल की पैकिंग कर घर बैठे नौकरी से हर महीने 30 हजार रुपये कमाने के नाम पर कुछ शातिर राजस्थान और मेरठ से ठगी कर रहे हैं। इस संबंध में साइबर पुलिस और पुलिस थानों में ठगी की कई शिकायतें आ रही हैं। लोगों को 650 रुपये के पंजीकरण शुल्क देने के बाद हर महीने हजारों रुपये कमाने का लालच दिया जा रहा है। उन्हें झांसा दिया जा रहा है कि पंजीकरण करवाने के साथ ही सामान के साथ 15 हजार रुपये उन्हें दिए जाएंगे।

इसके लिए बैंक खाते में पैसे आनलाइन ट्रांसफर करने को कहा जा रहा है। पैसे ट्रांसफर होते ही उनके बैंक खाते से हजारों रुपये निकाल लिए जा रहे हैं। साइबर पुलिस ने सावधान रहने और ऐसे लोगों के जाल में न फंसने की एडवाइजरी जारी की है। हिमाचल में शिमला सहित कई स्थानों पर लोगों से ठगी हुई है। इस तरह की ठगी का शिकार होने वालों की शिकायतें लगातार बढ़ रही हैं।

साइबर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

लोगों को इंटरनेट मीडिया पर घर बैठे नौकरी करने का झांसा दिया जा रहा है। साइबर ठग जहां से ठगी कर रहे हैं, पुलिस ने उनके स्थान का पता उनकी मोबाइल फोन लोकेशन से लगाया है। साइबर पुलिस की एडवाइजरी के अनुसार साइबर ठग कह रहे हैं कि 650 रुपये पंजीकरण शुल्क जमा कर ज्वाइंनिंग लैटर प्राप्त किया जा सकता है।

पैन कार्ड या आधार कार्ड नंबर शेयर न करें

कंपनियां इस प्रकार का मैसेज नहीं करती हैं। इसलिए यदि ऐसा मैसेज दिखे तो संबंधित कंपनी की वेबसाइट और उनके इंटरनेट मीडिया हैंडल को चेक करें। इस प्रकार के मैसेज कई बार डाटा कलेक्ट करने के लिए बनाए जाते हैं। ऐसा मैसेज आने पर पैन कार्ड या आधार कार्ड नंबर शेयर न करें वरना ठगी का शिकार हो सकते हैं।

9337985945 व 9351390189 नंबर से काल आने पर सावधान रहें

साइबर पुलिस ने अलर्ट किया है कि मोबाइल फोन नंबर 9337985945 व 9351390189 से काल आने पर सावधान रहें। इन नंबर से फोन करने वालों की लोकेशन का पता लगा लिया गया है। इसके बावजूद ठग पुलिस की पकड़ से दूर हैं और लोगों से ठगी कर रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।