इंस्टीट्यूट फॉर सोशल डेमोक्रेसी संस्था द्वारा टील गांव में चेत्रु बीठ मेले का आयोजन। … #news4
March 14th, 2022 | Post by :- | 378 Views

तीर्थन घाटी गुशैनी बंजार (परस राम भारती):- जिला कुल्लू उपमंडल बंजार में सराज के दूर दराज गांव टील में रविवार को इंस्टीट्यूट फॉर सोशल डेमोक्रेसी संस्था द्वारा एक दिवसीय चेतरू बीठ मेले का आयोजन बड़े धूमधाम से किया गया। संस्था द्वारा हर साल इस मेले को बड़े धूमाधाम और हर्षोल्लास पूर्वक मनाया जाता है। इस मेले में 100 से अधिक ग्रामीणों ने भाग लिया। यहां के परंपरागत मेले, त्यौहार और खेले हमारी सबकी सांझी विरासतें है। इस मेले में परंपरागत खेलों का भी आयोजन हुआ जिसमें स्थानीय बच्चों, महिलाओं, पुरषों और बुजुर्गों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। खण्ड बंजार पंचायत समिति के पूर्व चेयरमैन ध्यान सिंह इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। इन्होंने आईएसडी संस्थान और इस कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे सभी प्रतिभागियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

इंस्टीट्यूट फॉर सोशल डेमोक्रेसी संस्थान के मुख्य प्रशिक्षक तेज सिंह ठाकुर ने बताया कि यहां के परम्परागत मेले, त्यौहार, खेलें हम सबकी सांझी विरासतें है। इन्होंने कहा कि सांझी विरासतें समाज के हर वर्ग को आपस में जोड़े रखती है जिनका सरंक्षण एवं संवर्धन जरूरी है। इस कार्यक्रम में सभी वर्ग और जाति के बच्चों, महिलाओं, पुरषों और बुजुर्गों ने हिस्सा लिया जिसमें चार साल के बच्चे से लेकर 60 साल तक के बुजुर्ग शामिल थे।

तेज सिंह ठाकुर ने बताया कि इस अयोजन का मुख्य उद्देश्य समाज में भेदभाव को मिटाकर बराबरी स्थापित करना और इसके साथ ही सभी वर्ग की महिलाओं, बेटियों और बजुर्गो को उचित सम्मान देना है। इन्होंने बताया कि सांझी विरासतें समाज के हर वर्ग को आपस में जोड़ कर आपसी बंधुत्व, समरसता और सौहार्द बनाए रखती है इसलिए इन्हें संजोए रखना जरुरी है।

महिलाओं और पुरुषों के बीच हुआ रस्साकसी का मुकाबला इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहा। रस्साकसी के अलावा कबड्डी, लंगड़ी टांग, कुर्सी दौड़, चमच दौड़, पिठू दौड़ आदि परंपरागत खेलों का भी आयोजन हुआ। रस्साकसी का फाइनल मुकाबला महिला और पुरुष टीम के बीच में हुआ। आशा ठाकुर की कप्तानी में महिलाओं की टीम ने पुरुषों की टीम को हराया। पुरष टीम में केशव राम बतौर कप्तान अपनी टीम का नेतृत्व कर रहे थे जिन्हें महिलाओं की टीम ने धाराशाही कर दिया और ये बाजी हार गए।

इन खेलो में हर वर्ग के प्रतिभागियों ने भाग लिया। बच्चों के वर्ग में सब से छोटे प्रतिभागी चार साल के सुकन्या ठाकुर के साथ अरब ठाकुर, विहान ठाकुर, सुशांत ठाकुर और लवन्या आदि ने हिस्सा लिया और बजुर्ग वर्ग में 50 वर्ष से जायदा केशव राम, तेज सिंह ठाकुर, टिक्मू देवी और लीला देवी आदि शामिल रहे। वहीं युवा टीम से सौरभ ठाकुर, देव राज, भगत ठाकुर, राजा, चमन लाल, मेहर सिंह, किशोर ठाकुर, लता ठाकुर, पुष्पा ठाकुर, मोहिनी राणा, गुड्डी देवी, सोमा देवी, निर्मला देवी, जगदीश चंद ठाकुर, राकेश दुमच, खिम दासी, भीष्म सिंह, स्नेह लत्ता, कला देवी, शीला ठाकुर, नीलम, गिरु देवी, ज्ञान चन्द, नरेश राणा, आदि ने इस अयोजन में मुख्य रूप से अपनी भूमिका निभाई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।