मुख्यमंत्री ने की बनूरी में जलशक्ति विभाग का उपमंडल खोलने की घोषणा की #news4
April 14th, 2022 | Post by :- | 119 Views

पालमपुर : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बनूरी में जलशक्ति विभाग का उपमंडल कार्यालय खोलने की भी घोषणा की है। मुख्यमंत्री पालमपुर में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर की प्रतिमा स्थापित करने में कई जिलों से प्रस्तावित आई थी। लेकिन पालमपुर को चुना गया शिमला के बाद पालमपुर में यह दूसरा स्थल है जहां यह प्रतिमा स्थापित हुई है। बाबा भीमराव आंबेडकर ने समाज को मजबूत किया है। लेकिन आजादी के 71 वर्ष तक उन्हें सम्मान नहीं मिल सका।

भारतीय जनता पार्टी की पहली सरकार में प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने उन्हें भारत रतन की उपाधि देकर सम्मान किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने परमवीर चक्र बलिदानी कैप्टन विक्रम बत्रा की प्रतिमा का अनावरण भी किया। वहीं दो परियोजनाओं के उद्घाटन और 10 परियोजना के शिलान्यास सहित कुल 12 परियोजनाओं पालमपुर वासियों को समर्पित की। उन्होंने कहा कि सरकार ने अपने साढ़े चार साल के कार्यकाल में गरीब के साथ खड़ा होकर मदद की है। अंतिम पंक्ति के लोगों पर सरकार ने पूरा ध्यान रखा। उन्होंने कांग्रेस सरकार पर तंज कसते हुए कहा की पांच राज्यों के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने चार राज्य में अपनी सरकार रिपीट की है। जबकि कई राज्य में कांग्रेसी खाता भी नहीं खोल सके।

यह की घोषणाएं

मुख्यमंत्री पालमपुर वासियों की चिर लंबित मांग स्वतंत्र विकासखंड एवं चचियां में उप तहसील का दर्जा देने के लिए सभी औपचारिकताएं पूर्ण होने पर विश्वास दिलाया। मुख्यमंत्री ने बमोरी पंचायत में आइपीएस कैप्टन आत्माराम के गृह क्षेत्र में पशु चिकित्सालय राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कंडी में कॉमर्स और नॉन मेडिकल कक्षाएं राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जिया में मेडिकल और नॉन मेडिकल की कक्षाएं शुरू करने की घोषणा की। उन्होंने पालमपुर की जनता से कोरोना काल के दो वर्ष खराब होने के चलते आगामी चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को पांच साल फिर मौका देने की मांग की। उन्होंने इस मौके पर सरकार की योजनाओं व नीतियों की जानकारी भी दी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।