स्कूली बच्चों को मिड डे मील में परोसे गए खाने में मिले कीड़े, बच्चों ने नहीं खाया खाना
May 25th, 2019 | Post by :- | 229 Views

रेणुकाजी राजकीय कन्या हाई स्कूल ददाहू के मिड डे मील के खाने में कीड़े पाए जाने से लड़कियों ने उस खाने को खाने से इंकार कर दिया। यही नहीं 50-60 लड़कियों ने तो उस खाने को फेंक भी दिया। इसकी लिखित शिकायत बच्चों ने स्कूल के हेडमास्टर को भी दी है।

इन बच्चों ने इस सारे मामले की जानकारी अपने अभिभावकों को भी घर जाकर दी।बच्चों ने उन कीड़ों को अपने अध्यापकों को भी दिखाया था। खाने में कीड़े पाए जाने का यह मामला बेहद गंभीर है। इसके लिए न केवल मिड डे मील प्रभारी व स्कूल प्रशासन जिम्मेदार है, मिड डे मील कर्मचारी भी कम दोषी नहीं है। पर सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि यदि उस खाने में कीड़े थे तो वह खाना बच्चों को क्यों परोसा गया। इसका मतलब यह है कि उस खाने को चेक ही नहीं किया जाता।

स्कूल में बच्चों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है लेकिन खाना खाने पकाने के लिए केवल एक ही कर्मचारी को रखा गया है। इतने बच्चों का अकेले कर्मचारी को खाना बनाना बेहद मुश्किल हो रहा है। केंद्र सरकार ने शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत छठी कक्षा से आठवीं कक्षा तक के बच्चों को दोपहर के भोजन का स्कूल में ही प्रावधान किया है। ताकि बच्चे पढ़ाई के साथ-साथ स्वस्थ भी हो सके। स्कूल के हेडमास्टर संजय पासी ने बताया कि उन्हें इस बारे में बच्चों की शिकायत मिली है। इस पूरे मामले की जांच की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।